हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स

स्वास्थ्य बीमा अस्पताल में भर्ती होने पर लागत, डॉक्टर की फीस, चिकित्सा बिल आदि के खिलाफ वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है। बढ़ती चिकित्सा और अस्पताल में भर्ती होने की लागत के साथ, स्वास्थ्य बीमा खरीदना सिर्फ एक विकल्प से अधिक हो गया है। यदि आप वित्तीय तनाव की चिंता किए बिना सर्वोत्तम चिकित्सा देखभाल चाहते हैं तो यह एक आवश्यकता बन गया है। कोई भी व्यक्ति नियमित प्रीमियम भुगतान पर स्वास्थ्य बीमा प्राप्त कर सकता है। यह प्रीमियम उम्र, चिकित्सा स्थितियों, कवरेज, पॉलिसी अवधि आदि पर निर्भर करती हैं। सुनिश्चित करें कि आपको सर्वोत्तम स्वास्थ्य बीमा योजना और अतिरिक्त राइडर्स मिलें जो आपकी भविष्य की सभी चिकित्सा आवश्यकताओं को पूरा करते हों । ...Read More

अपना फ़्यूचर सुरक्षित करने के लिए , अभी शुरू करें।

*

डिस्क्लेमर

Max Life क्रिटिकल इलनेस और डिसेबिलिटी राइडर | नॉन-लिंक्ड नॉन-पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल प्योर रिस्क प्रीमियम हेल्थ इंश्योरेंस राइडर | बेस प्लान पर अतिरिक्त प्रीमियम के भुगतान पर उपलब्ध राइडर बेनिफ़िट@>.

हेल्थ इंश्योरेंस क्या है?

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स मूल क्षतिपूर्ति करने वाले मतलब नुकसान की भरपाई करने वाले इंश्योरेंस हैं | ये अस्पताल में भर्ती होने के खर्च के लिए या किसी गंभीर बीमारी के इलाज के खर्च के लिए धन की मदद देते है |

  • भारत में हेल्थ इंश्योरेंस, इंश्योरेंस प्रोवाइडर (इंश्योरेंस देने वाली कंपनी) और ग्राहक के बीच एक समझौता है कि अगर भविष्य में पॉलिसीहोल्डर बीमार या घायल हो जाते हैं तो इंश्योरेंस प्रोवाइडर (याने की इंश्योरेंस देने वाली कंपनी) चिकित्सा बिलों के भुगतान का वादा करता है |
  • हेल्थ इंश्योरेंस अस्पताल में भर्ती होने के खर्चे को, सर्जरी या इलाज के किसी दुसरे खर्चे को भी कवर करता है।
  • आम तौर पर, भारत में सर्वोत्तम हेल्थ इंश्योरेंस प्रदान करने वाली इंश्योरेंस कंपनियाँ अस्पतालों के एक बड़े नेटवर्क से जुड़ी होती हैं, जो पॉलिसीहोल्डर्स के लिए आसान कैशलेस ( बिना धन के ) इलाज सुनिश्चित करती हैं।
  • साथ ही एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी आपको इलाज के दौरान होने वाले वेतन के नुकसान से निपटने में भी मदद करती है, वरना ये नुकसान आपके परिवार के आर्थिक हालत में असंतुलन पैदा कर सकता है। दूसरे शब्दों में कहें तो भारत के सर्वश्रेष्ठ हेल्थ इंश्योरेंस के साथ आपका कवरेज होने से आप अपनी बचत पर किसी भी तरह का बोझ डाले बिना अपना अच्छा उपचार करवा सकतें हैं|

टर्म प्लान कैलकुलेटर

35yrs
18yrs
25yrs
35yrs
45yrs
55yrs
60yrs

प्रीमियम
GST सहित
/महीना

हेल्थ इंश्योरेंस प्लान के प्रकार

सबसे बेहतर हेल्थ इंश्योरेंस वो है जो आपकी धन की ख़ास जरूरतों को पूरा कर सके। सही हेल्थ इंश्योरेंस चुनने के लिए आपको भारत में उपलब्ध दुसरे हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स के बारे में पता होना चाहिए। कुछ प्लान्स हैं जैसे:

  • कैंसर इंश्योरेंस प्लान्स
  • क्रिटिकल इलनेस बेनिफिट (गंभीर बिमारियों के लिए )
  • वैयक्तिक स्वास्थ्य इंश्योरेंस योजना
  • फैमिली फ्लोटर हेल्थ प्लान
  • ग्रुप हेल्थ कवर

आइए इन प्लान्स के बारे में विस्तार से जानते हैं:

कैंसर इंश्योरेंस प्लान्स

यदि आप कैंसर से पीड़ित होते हैं, तो कैंसर इंश्योरेंस प्लान्स

आपके इलाज के खर्चे को कवर करने में मदद करता है। यह प्लान कैंसर के सभी चरणों में आपको पूरी सुरक्षा देता है। यदि शुरुआती दौर में कैंसर का पता चल जाता है तो कवर का एक हिस्सा आपको जल्द से जल्द से मिल जाता है और भविष्य के सभी प्रीमियम माफ कर दिए जाते हैं। यदि ज्यादा बढ़ने के बाद कैंसर का पता चलता है, तो आपको एक निश्चित समय के लिए अतिरिक्त आय के साथ पूर्ण कवर राशि मिल सकती है।

क्रिटिकल इलनेस प्लान्स

भारत में सबसे अच्छे हेल्थ इंश्योरेंस के साथ, आप क्रिटिकल इलनेस प्लान/लाभ प्राप्त कर सकते हैं जो किसी जानलेवा बीमारी होने पर भुगतान के रूप में व्यापक वित्तीय (धन संबंधी) सुरक्षा देने में आपकी सहायता करता है। हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों से अलग, मैक्स लाइफ इंश्योरेंस अपने मैक्स लाइफ स्मार्ट सिक्योर प्लस प्लान (एक नॉन-लिंक्ड नॉन-पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल प्योर रिस्क प्रीमियम लाइफ इंश्योरेंस प्लान UIN: 104N118V02) के साथ ऐड-ऑन फीचर के रूप में क्रिटिकल इलनेस बेनिफिट प्रदान करता है जो एक टर्म प्लान है।

...Read More
familySecureMobile

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स के लाभ

हेल्थ इंश्योरेंस योजनाएं कैंसर और अन्य जानलेवा बीमारियों के इलाज से संबंधित खर्चों के लिए व्यापक कवरेज प्रदान करती हैं। व्यापक हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज के साथ, आप उच्च चिकित्सा बिलों, अस्पताल में भर्ती होने के खर्च और अन्य इलाज के खर्चो के साथ अपनी मेडिकल इंश्योरेंस योजना का ध्यान रखते हुए अपनी आर्थिक सुरक्षा कर सकते हैं। भारत में सर्वश्रेष्ठ हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में निवेश करने के कुछ लाभ यहां दिए गए हैं:

familySecureMobile-img
  1. इलाज के लिये व्यापक कवरेज

हेल्थ इंश्योरेंस होने से किसी भी तरह की चिकित्सीय आपात स्थिति में आप बचत पर बिना किसी दबाव के सर्वोत्तम संभव देखभाल प्राप्त कर सकते हैं। दूसरे शब्दों में कहें तो, भारत में सबसे अच्छी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी चिकित्सा खर्चों के खिलाफ व्यापक सुरक्षा प्रदान करेगी, जो स्थिति के आधार पर तेजी से बढ़ सकती है। उपयोगी ऑनलाइन हेल्थ इंश्योरेंस टिप|

2. गंभीर बीमारियों में अतिरिक्त आर्थिक सुरक्षा

भारत में कुछ हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियां राइडर एड-ऑन या स्वतंत्र हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के रूप में क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस कवर प्रदान करती हैं। हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज कई जानलेवा बीमारियों के खिलाफ धन संबंधी सुरक्षा प्रदान करता है, जिसमें गंभीर बीमारी जैसे किडनी फेल, हृदय संबंधी समस्याएं, बोन मैरो ट्रांसप्लांट, स्ट्रोक और आकस्मिक अंगविच्छेद शामिल हैं। इसमें मैक्स क्रिटिकल इलनेस एंड डिसेबिलिटी राइडर के तहत कवर की जाने वाली सामान्य गंभीर बीमारियां शामिल हैं|

  • विशिष्ट गंभीर कैंसर (घातक ट्यूमर)
  • एंजियोप्लास्टी
  • पहला दिल का दौरा - विशिष्ट गंभीरता का

  • ओपन हार्ट रिप्लेसमेंट या हार्ट वाल्व की मरम्मत
  • महाधमनी की सर्जरी
  • कार्डियोमायोपैथी
  • प्राथमिक पल्मोनरी हाइपरटेंशन
  • ओपन चेस्ट सीएबीजी
  • अंधापन
  • जीर्ण यकृत रोग (क्रॉनीक लीवर डिसीज)

यदि आपको कोई गंभीर बीमारी है जो आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी की पूर्वनिर्धारित सूची में शामिल है, तो आप एकमुश्त राशि प्राप्त करने के पात्र हैं।.

यदि आपको कोई गंभीर बीमारी है जो आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी की पूर्वनिर्धारित सूची में शामिल है, तो आप एकमुश्त राशि प्राप्त करने के पात्र हैं। आप इस राशि का उपयोग अपने दैनिक खर्चों, बीमारी से संबंधित इलाज के खर्च और अन्य जरूरतों को पूरा करने के लिए कर सकते हैं।

3. अग्रणी नेटवर्क (जुड़े हुए) अस्पतालों में कैशलेस (बिना धन के) इलाज का लाभ उठाएं

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस योजनाएं देश के किसी भी बड़े अस्पताल में कैशलेस (बिना धन के) क्लेम की सुविधा प्रदान करती हैं। कैशलेस (बिना धन के) उपचार में, उपचार की लागत आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर (इंश्योरेंस देने वाली कंपनी) द्वारा वहन की जाती है क्योंकि वे सीधे आपकी ओर से अस्पताल में भर्ती होने की लागत को कवर करते हैं।

हालांकि, कैशलेस (बिना धन के) उपचार लाभों को प्राप्त करने के लिए, आपको अपने हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के अंतर्गत किसी भी नेटवर्क अस्पताल में भर्ती होना चाहिए। इसके अतिरिक्त, कैशलेस (बिना धन के) उपचार सुविधा का लाभ उठाने के लिए, आ���को एक प्री-ऑथोरायजेशन फॉर्म भरना होगा और अपना हेल्थ इंश्योरेंस कार्ड प्रदान करना होगा।

4.महत्वपूर्ण टैक्स सेविंग बेनिफिट्स4
                                                    

जागरूकता बढ़ाने और व्यापक हेल्थ इंश्योरेंस योजनाओं तक पहुंचने के लिए, सरकार हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसियों के लिए भुगतान किए गए प्रीमियम पर महत्वपूर्ण कर-कटौती की पेशकश करती है|

उसके अनुसार, आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए भुगतान किया गया प्रीमियम आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80डी के तहत कर कटौती के योग्य है। आपके मेडिकल इंश्योरेंस प्लान के तहत कर कटौती की राशि निम्नानुसार है।

ए) अगर आप अपने जीवनसाथी, बच्चों और अपने लिए हेल्थ इंश्योरेंस कवर खरीदते हैं, तो आप रु.25,000 तक बचा सकते हैं।

बी) अपने हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज के अंतर्गत अपने माता-पिता (60 वर्ष से कम आयु) को शामिल करके, आप अपनी कुल टैक्स बचत 50,000 रुपये तक ले जाने के लिए 25,000 रुपये तक की अतिरिक्त कर कटौती का लाभ उठा सकते हैं|

सी) यदि आपके माता-पिता की आयु 60 वर्ष या उससे अधिक हैं, तो कर बचत की कुल राशि 75,000 रुपए तक बढ़ सकती है|

डी) आप अपने जीवनसाथी, आश्रित बच्चों, माता-पिता और स्वयं के प्रतिबंधक हेल्थ चेकअप के भुगतान के लिए 5,000 रुपये की कटौती का लाभ उठा सकते हैं।

कवर किए गए व्यक्तिछूट सीमा (एक्झेमशन लिमिट) स्वास्थ्य जांच छूट की सीमा (हेल्थ चेक अप एक्झेमशन लिमिट)धारा 80D के तहत कुल कटौती
स्वयं, पति या पत्नी और आश्रित बच्चेRs 25,000Rs.5,000Rs. 25,000
माता-पिता सहित स्वयं और परिवार के लिए (सभी की आयु 60 वर्ष से कम)Rs. 25,000 + Rs. 25,000Rs.5,000Rs. 50,000
वरिष्ठ नागरिक माता-पिता सहित स्वयं के लिए, परिवार के लिएRs. 25,000 + Rs. 50,000Rs. 50,00Rs. 75,000
माता-पिता सहित स्वयं और परिवार के सदस्यों के लिए (सभी 60 वर्ष से ऊपर की आयु)Rs 50,000 + Rs. 50,000Rs. 50,000Rs. 1 Lakh

नोट: आपके जीवनसाथी, आश्रित बच्चों, माता-पिता के हेल्थ चेक अप के लिए आपके स्वयं के भुगतान के लिए धारा 80डी के अंतर्गत प्रतिबंधक हेल्थ चेक अप के लिए अधिकतम 5,000/- रुपये तक की कटौती की अनुमति होगी।

4परिवर्तन के अधीन मौजूदा कर कानूनों (टैक्स लॉ) के अनुसार टैक्स बेनिफिट,

हेल्थ इंश्योरेंस में वैकल्पिक ऐड-ऑन

जानलेवा बीमारियाँ बढ़ने से आपकी धन संबंधी कठिनाई काफी बढ़ सकती है पर अगर आप अपने हेल्थ इंश्योरेंस के अलावा साथ में ऐड-ऑन चुनते हैं तो स्वास्थ्य संबंधी आपात स्थितियों को नियंत्रित करने में यह मददगार साबित हो सकता है। कुछ जानलेवा बीमारियां, जैसे हृदय रोग, स्ट्रोक, कैंसर और किडनी फेलियर के लिए एक अलग कवर की आवश्यकता होती है ताकि आप बिना किसी परेशानी के अपना इलाज के सर्वोत्तम उपचार का लाभ उठा सकें।

क्रिटिकल इलनेस एंड डिसेबिलिटी राइडर (नॉन-लिंक्ड नॉन-पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल प्योर रिस्क प्रीमियम हेल्थ इंश्योरेंस राइड | UIN:104B033V01) यह हेल्थ इंश्योरेंस में महत्वपूर्ण ऐड-ऑन है जो आपके भविष्य के लिए धन को सुरक्षित रखने के साथ-साथ बढ़ी हुई धन संबंधी सुरक्षा और स्वास्थ्य के लिए क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस प्रदान करता है।

  • 64 प्रकार की गंभीर बीमारियों को कवर करता है
  • स्थायी और अस्थायी विकलांगता कवर की पेशकश करता है
  • आपके मूल हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स के ऊपर सभी प्रकार की स्वास्थ्य आपात स्थितियों के लिए व्यापक कवरेज प्रदान करता है|
  • इस राइडर के लिए चुकाए गए प्रीमियम लचीले हैं
  • इस राइडर के दोनों प्रकार के लिए 85 वर्ष तक की विस्तारित कवरेज अवधि प्राप्त करें

एक स्वास्थ्य लाभ जो आपके द्वारा चलें गए या चलाए गए कदमों की संख्या के आधार पर छूट के साथ नवीनीकरण प्रीमियम की गारंटी देता है|

आपको मेडिकल इंश्योरेंस की आवश्यकता क्यों है?

व्यापक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी या मेडिकल इंश्योरेंस न केवल चिकित्सा बिलों का ध्यान रखता है, बल्कि आपकी जरूरतों के अनुसार अन्य चिकित्सा परीक्षणों, उपचारों और प्रक्रियाओं के लिए भी कवरेज प्रदान कर सकता है।

कई कारणों से हेल्थ इंश्योरेंस कराना एक महत्वपूर्ण निर्णय है। हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज की अनुपस्थिति में:

  • चिकित्सा उपचार के दौरान आप अपनी सारी बचत का उपयोग करेंगे और आप पर आर्थिक बोझ पड़ने की संभावना है|
  • यदि आपके पास अपने खर्चों को कवर करने के लिए पर्याप्त बचत नहीं है, तो आपको एक उप-इष्टतम उपचार चुनना पड़ सकता है।

वहीं दूसरी ओर, भारत की कुछ सर्वश्रेष्ठ हेल्थ इंश्योरेंस योजनाएं प्रदान करती हैं:

  • व्यापक कवरेज लाभ जो हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने की लागतों से अधिक हैं|
  • हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज के लिए देय प्रीमियम पर धारा 80D के अंतर्गत टैक्स बचत
  • कवरेज अवधि के दौरान अस्पताल से पहले और अस्पताल में भर्ती होने के बाद की उपचार लागत को कवर करने के लिए आर्थिक सहायता

भारत में कुछ हेल्थ इंश्योरेंस योजनाएं, जैसे मैक्स लाइफ कैंसर इंश्योरेंस प्लान (UIN: 104N093V03)] *, बिना किसी अतिरिक्त लागत के, पहले पांच क्लेम फ्री वर्षों के लिए पॉलिसी के अंतर्गत सम एश्योर्ड को 10% तक बढ़ाने का विकल्प देकर कैंसर के सभी चरणों में व्यापक स्तर पर धन संबंधी सुरक्षा प्रदान करने में मदद करता हैं|

नॉन-लिंक्ड नॉन-पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल प्योर रिस्क प्रीमियम हेल्थ इंश्योरेंस प्लान

ऑनलाइन हेल्थ इंश्योरेंस प्लान कैसे खरीदें?

Buy Online Health Insurance Plan

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस योजनाओं का मुख्य उद्देश्य आपको और आपके परिवार के सदस्यों को व्यापक स्तर पर वित्तीय (धन संबंधी) कवरेज प्रदान करना है। इस प्रकार, आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप पर्याप्त कवरेज और किफायती प्रीमियम के साथ एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को चुन रहे हैं।

यहां बताया गया है कि आप हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज को ऑनलाइन कैसे खरीद सकते हैं

  • लाइफ/ हेल्थ इंश्योरेंस प्लान /कैंसर प्लान के लिए अपनी जानकारी भरें
  • अपने ऑनलाइन हेल्थ इंश्योरेंस के साथ आवश्यक क्रिटिकल इंश्योरेंस/कैंसर इंश्योरेंस कवरेज (या सम इंश्युर्ड) जोड़ें
  • अपनी आयु, लिंग, जीवन शैली वरीयताओं, चयनित हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज (या सम इंश्युर्ड) और अधिकतम कवरेज आयु के आधार पर प्रीमियम राशि की गणना करने के लिए ऑनलाइन हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेटर का उपयोग करें।

उम्र के साथ-साथ गंभीर बीमारी का खतरा बढ़ने पर अधिकतम मेडिकल इंश्योरेंस कवरेज अवधि चुनें।

हेल्थ इंश्योरेंस प्लान किसे खरीदना चाहिए?

अपने और अपनों के लिए एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी लेना एक महत्वपूर्ण वित्तीय (धन संबंधी) निर्णय है। आज की तेज भागती जीवन शैली में चिकित्सा देखभाल महंगी होने के कारण मेडिकल इंश्योरेंस लेना एक आवश्यकता बन गया है।

यदि आप नौकरी करते है या स्व-रोजगार वाले व्यक्ति हैं और जिनके उपर निर्भर व्यक्ति हैं, तो उन्हें हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में निवेश करना चाहिए | हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेटर का उपयोग करने से आपको बेहतर ढंग से यह समझने में मदद मिलेगी कि आपका व्यवसाय आवश्यक हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज को कैसे प्रभावित कर सकता है। इसके अलावा, हेल्थ इंश्योरेंस योजना खरीदना तभी आवश्यक है अगर:

  • आपकी आयु 25 से 65 वर्ष के बीच है
  • आप यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि आपका परिवार किसी चिकित्सीय संकट के दौरान सुरक्षित रहे|
  • आप अपनी कर बचत को आयकर अधिनियम की धारा 80C (हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम अधिनियम की धारा 80D के तहत कर मुक्त है) के अंतर्गत दिए गए सीमा से आगे बढ़ाना होगा, मौजूदा कर कानून के तहत कर लाभ, जो परिवर्तन के अधीन है|
  • अगर आप भारतीय नागरिक हैं [एनआरआई (अनिवासी भारतीय), पीआईओ (भारतीय मूल), ओसीआई (भारत की विदेशी नागरिकता) या भारतीय मूल के विदेशी नागरिक भारत में हेल्थ इंश्योरेंस योजना नहीं खरीद सकते हैं]

आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम को प्रभावित करने वाले कारक:

आज हम जिस तेजी से भागती हुई जीवन शैली में जी रहे हैं, हमारे चारों ओर बहुत सारे तनाव हैं, कुछ ख़राब आदतें हैं, वे आपको एक अच्छी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी का लाभ लेने से रोक सकती हैं। हेल्थ इंश्योरेंस योजनाओं की लागत और भुगतान किए गए प्रीमियम की राशि इंश्युरर और इंश्युर्ड के लिए कई कारकों के आधार पर काफी भिन्न होती है:

1. धूम्रपान की स्थिति

आपकी धूम्रपान की स्थिति आपकी प्रीमियम राशि को प्रभावि��� करने का एक बड़ा कारक है क्योंकि नियमित धूम्रपान करने वालों को फेफड़ों के कैंसर, हृदय रोग, श्वसन संबंधी बीमारियों और अन्य स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों की आशंका अधिक होती है। बीमारियों की श्रेणी में यह असुरक्षा आपकी हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम राशि को प्रभावित करती है और आपको अधिक कीमत चुकानी पड़ती है।

2. मद्यपान

नियमित और भारी शराब पीने की आदत वाले लोगों को वित्तीय (धन संबंधी) सुरक्षा प्राप्त करने के लिए अधिक प्रीमियम देना पड़ता है। इसका कारण यह है कि अत्यधिक शराब पीने से किडनी और लीवर की बीमारी, उच्च रक्तचाप और अन्य गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं।

3. लिंग का प्रभाव

लिंग एक और कारक है जो इंश्योरेंस पॉलिसियों की प्रीमियम दरों को प्रभावित कर सकता है। सामान्य तौर पर, महिलाओं की उम्र पुरुषों की तुलना में अधिक होती है, जिसके परिणामस्वरूप उनके लिए अपेक्षाकृत कम प्रीमियम दरें होती हैं।

4. आयु

जब कोई व्यक्ति एक निश्चित उम्र तक पहुंचता है, वे उम्र से संबंधित बीमारियों और चिकित्सा पर्यवेक्षण के प्रति संवेदनशील हो जाते हैं जो आपकी हेल्थ इंश्योरेंस योजना की लागत को बढ़ाते हैं।

5. फैमिली मेडिकल हिस्ट्री

कुछ लोगों के पास कुछ बीमारियों की मेडिकल हिस्ट्री होती है जो नई पीढ़ियों को ट्रांसफर हो जाते हैं। कुछ लोगों में इस प्रकार की प्रवृत्ति विकसित होने का खतरा अधिक होता है। यह एक ऐसा कारक भी है जो आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम को प्रभावित करता है।

6. व्यवसाय:

तनावपूर्ण या खतरनाक काम के माहौल के संपर्क में आने वाले व्यक्तियों के बीमार होने की संभावना अधिक होती है। यदि आपके व्यवसाय में कोई दुर्घटना होती है, तो यह आपकी प्रीमियम दरों को प्रभावित कर सकता है।

7.पहले से मौजूद रोग

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने से पहले, यदि आपको कोई बीमारी हो गई है, तो आपकी प्रीमियम राशि अधिक होगी और ऐसी बीमारी के इलाज के लिए क्लेम का लाभ उठाने के लिए एक निश्चित प्रतीक्षा अवधि की आवश्यकता होती है।

हेल्थ इंश्योरेंस प्लान के कुछ अपवाद

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी कवरेज प्रदान करता है जो एक इंश्युरर से दूसरे इंश्युरर के लिए भिन्न होता है। लेकिन, कुछ सामान्य चीजें ऐसी हैं जो भारत की कुछ बेहतरीन हेल्थ पॉलिसी में शामिल नहीं हैं। निम्नलिखित कुछ सामान्य हेल्थ या मेडिकल इंश्योरेंस प्लान्स हैं जिनके बारे में हमें जानकारी होनी चाहिए:

  • पहले से मौजूद बीमारियों के लिए, क्रिटिकल इलनेस कवरेज एक प्रतीक्षा अवधि के अधीन है जो एक इंश्योरेंस कंपनी से दूसरी इंश्योरेंस कंपनी में भिन्न हो सकती है।
  • विदेश में उपचार या किसी कम योग्य मेडिकल प्रोफेशनल द्वारा इलाज
  • पहले से मौजूद स्थितियां: कैंसर की स्थिति (प्राथमिक या मेटास्टेटिक) के रूप में परिभाषित; एक पूर्व-कैंसर स्थिति या संबंधित स्थिति जिसके लिए इंश्युर्ड व्यक्ति में पहले से लक्षण थे या पॉलिसी जारी होने की तारीख से पहले उसका निदान किया गया था या चिकित्सा उपचार प्राप्त किया गया था।
  • (संपूर्ण या आंशिक रूप से) यौन संचारित रोग, एड्स या एचआईवी के कारण या योगदान
  • निम्नलिखित में से किसी के कारण (पूरे या आंशिक रूप से) योगदान:
  • शराब या नशीले पदार्थों या ड्रग्स द्वारा नशा जो रजिस्टर्ड मेडिकल व्यवसायी द्वारा निर्धारित नहीं है।
  • आण्विक(न्यूक्लियर), जैविक(बायोलॉजीकल) या रासायनिक (केमिकल) प्रदूषण (एनबीसी)

नोट: उपर्युक्त हेल्थ इंश्योरेंस के अपवाद एक इंश्युरर से दूसरे में भिन्न हो सकते हैं। भारत में सबसे अच्छी हेल्थ इंश्योरेंस योजना चुनने से पहले सभी हेल्थ इंश्योरेंस में शामिल चीजें एवं अपवाद चेक करने की सिफारिश की जाती है ।

क्या आपका हेल्थ इंश्योरेंस कोविड-19 के क्लेम को कवर करता है?

कोरोनावायरस महामारी एक महामारी थी जो सबके लिये एक सबक था जिसने ऐसी अप्रत्याशित चिकित्सा आपात स्थितियों से निपटने के लिए हेल्थ इंश्योरेंस की आवश्यकता पर ज़ोर दिया। इंश्योरेंस प्रोवाइडर्स (इंश्योरेंस देने वाली कंपनी) ने कोविड -19 इंश्योरेंस की आवश्यकता का आकलन किया है, जो उपचार लागत से लेकर नैदानिक ​​परीक्षणों तक सभी चिकित्सा लागतों को कवर करता है।

आयआरडीएआय (IRDAI) के प्राधिकरण के अनुसार दो प्रकार के कोविड -19 इंश्योरेंस की पेशकश की जाती है:

कोरोना कवच

एक छोटी क्षतिपूर्ति (मुआवजा) -आधारित योजना है जो अस्पताल के खर्चों के सम एश्योर्ड का भुगतान करती है।

कोरोना रक्षक

एक लाभ-आधारित नीति जो सम एश्योर्ड के बराबर एकमुश्त भुगतान प्रदान करती है यदि आपका निदान सरकार द्वारा अनुमोदित परीक्षण केंद्र द्वारा किया जाता है तो 72 घंटों के लिए अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता होती है।

स्थिति को देखते हुए इन दोनों कोरोना हेल्थ इंश्योरेंस योजनाओं को समय की जरूरत है। कुछ इंश्युरर्स इस पॉलिसी पर ऐड-ऑन राइडर के रूप में क्लेम करने में मदद करते हैं, जबकि अन्य कोविड-19 संबंधित लागतों और उपचार के लिए अलग इंश्योरेंस योजनाएँ प्रदान करते हैं।

अपने और अपनों के लिए भारत में सबसे अच्छा हेल्थ इंश्योरेंस खरीदते समय, किसी को यह प्रश्न अवश्य पूछना चाहिए - क्या आपकी योजना आपको कोविड-19 के विरुद्ध क्लेम करने की अनुमति देती है क्योंकि जीवन अनिश्चितता से भरा है और ऐसे किसी भी स्वास्थ्य संकट के लिए तैयार रहना अत्यंत जरुरी है।

स्रोत: प्रेस विज्ञप्ति (irdai.gov.in) के अनुसार

हेल्थ इंश्योरेंस प्लान के लिये पात्रता मापदंड

आपके और आपके परिवार के लिए एक उपयुक्त हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने की आवश्यकता पर प्रकाश डाला गया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि आप अपनी जरुरतों का सावधानीपूर्वक ध्यान रखते हुए ऐसी पॉलिसी चुनते हैं जो उचित लागत पर अधिकतम लाभ प्रदान करती है। जबकि चिकित्सा उपचार से जुड़े खर्चों से निपटने के लिए हर किसी के पास सबसे अच्छी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी होना आवश्यक है, जिसके लिये पात्रता मापदंड इस प्रकार है:

प्रवेश उम्र

चाइल्ड हेल्थ इंश्योरेंस प्लान के अंतर्गत प्रवेश की न्यूनतम आयु 16 दिन है और इसे बढ़ाकर 18 वर्ष कर दिया गया है। तो एक वयस्क के लिए, प्रवेश की आयु 18 वर्ष है और व्यक्ति को पॉलिसी के नियमों और शर्तों के अनुसार सभी लाभ मिलेंगे।

पहले से मौजूद स्थितियां

यदि आपको हेल्थ इंश्योरेंस योजना खरीदने से पहले किसी बीमारी का निदान किया गया था, तो इसे पहले से मौजूद स्थिति माना जाता है जिसके लिए एक निर्दिष्ट प्रतीक्षा अवधि होती है। प्रतीक्षा अवधि समाप्त होने के बाद ही, आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस योजना पर उस विशेष बीमारी के लिए क्लेम करने के पात्र होते हैं।

कम उम्र में हेल्थ इंश्योरेंस प्लान क्यों खरीदें

भारत में सबसे अच्छी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी से कम उम्र में सबसे अच्छी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना हमेशा एक अच्छा विचार है क्योंकि आपको चिकित्सा बिलों का भुगतान करने और इस तरह के ढेर सारे उपचारों पर अपनी मेहनत की कमाई को समाप्त करने का तनाव नहीं होता है। जिस उम्र में आप अपने भविष्य के लिए बचत करना चाहते हैं, वह आपकी वित्तीय (धन संबंधी) स्थिति को प्रभावित कर सकता है और आपको भावनात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है।

आजकल चिकित्सा क्षेत्र में महंगाई आसमान छूती नजर आती है, जो की बहुत ही कठिन होता हैं| इसलिए जीवन की शुरुआत में ही हेल्थ इंश्योरेंस खरीदना कई तरीकों से काम आता है।

युवाओं को हेल्थ इंश्योरेंस योजना में निवेश क्यों करना चाहिए, इसके कुछ प्रमुख लाभों की जाँच करें:

  • उत्पन्न होनेवली किसी भी स्वास्थ्य संबंधी आपात स्थिति के लिए व्यापक कवरेज प्रदान करता है और आपकी वित्तीय (धन संबंधी) सुरक्षा को नुकसान पहुंचा सकती है।
  • यदि कोई पहले से मौजूद स्थितियां हैं, आप अपने स्वास्थ्य पर बहुत अधिक समझौता किए बिना निर्दिष्ट प्रतीक्षा अवधि को जल्दी समाप्त कर सकते हैं और जब आपको इसकी सबसे अधिक आवश्यकता हो, तब आप इसके विरुद्ध क्लेम के लिये पात्र हो सकते हैं।
  • युवा स्वस्थ होते हैं और उनकी बीमार होने की संभावना कम होती है, इसलिए प्रीमियम राशि सस्ती होती है जो आपके हेल्थ इंश्योरेंस लागत निवेश के योग्य बनाता है।
  • कुछ टैक्स बेनिफिट्स4 , सेक्शन 80D के तहत लागू होते हैं जो आपकी आय को बचाने में मदद करते हैं और आपके फंड को भविष्य की एक अच्छी योजना बनाने में मदद करते हैं।
  • आपके पास राइडर्स और ऐड-ऑन के साथ व्यापक कवरेज विकल्प उपलब्ध हैं जो व्यापक स्तर पर हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स की पेशकश करते हैं।

जब तक आप जवान हो तब आपका स्वास्थ्य बहुत ही अच्छा होता हैं। लेकिन आज की व्यस्त जीवन शैली, बढ़ते पर्यावरण प्रदूषण और बढ़ते तनाव ने युवाओं को कई तरह की स्वास्थ्य स्थितियों का केंद्र बना दिया है जो जीवन की गुणवत्ता को प्रभावित कर सकती हैं। इस प्रकार, इस तरह के नकारात्मक प्रभावों को कम करने के लिए, एक हेल्थ प्लान जल्दी खरीदने की सलाह दी जाती है।

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस योजना खरीदने के लिए आवश्यक दस्तावेज

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस योजना खरीदते समय आपको निम्नलिखित दस्तावेज प्रस्तुत करने के लिए कहा जाएगा:

  • आयु प्रमाण (एज प्रुफ)
  • पहचान प्रमाण (आइडेंटिटी प्रूफ)
  • निवास प्रमाण पत्र (एड्रेस प्रूफ)
  • मेडिकल रिपोर्ट्स
  • पासपोर्ट साइज फोटो

नोट:आवश्यक दस्तावेजों की सूची एक हेल्थ इंश्युरर से दूसरे हेल्थ इंश्युरर में भिन्न हो सकती है।

2022 में सर्वश्रेष्ठ हेल्थ इंश्योरेंस प्लान का चुनाव कैसे करें?

पिछले 2 वर्ष स्वास्थ्य और जीवन की अनिश्चितताओं के बारे में सीखने के वर्ष रहे हैं। इससे हमें हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स का महत्व समझ में आया है और यह महत्वपूर्ण है। इतने सारे इंश्योरेंस प्रोवाइडर्स (इंश्योरेंस देने वाली कंपनी) और हेल्थ इंश्योरेंस के प्रकारों के साथ, यह तय करना एक कठिन काम हो सकता है कि कौन सा विकल्प आपके लिये सबसे अच्छा होगा।

टर्म इंश्योरेंस खरीदना फायदेमंद होने के कुछ कारण यहां दिए गए हैं:

अपनी स्वास्थ्य आवश्यकताओं का आकलन करें

प्रत्येक व्यक्ति की कुछ स्वास्थ्य संबंधी ज़रूरतें होती हैं और स्वयं के लिए उचित प्लान का लाभ उठाने के लिए उन्हें उसका पालन करना चाहिए|

कवरेज के विकल्प

आपकी आवश्यकताओं के अनुरूप कवरेज के प्रकार के साथ ऐड-ऑन लाभों के साथ व्यापक स्तर पर कवरेज प्रदान करने वाले प्लान्स आपके लिए सबसे अच्छे हैं। अपनी आवश्यकताओं के आधार पर, आप कम प्रीमियम पर उच्च सम एश्योर्ड प्रदान करने वाला फैमिली फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस ले सकते हैं, जिससे परिवार के सभी सदस्यों को लाभ मिल सकता है।

अधिक बीमित राशि

चूंकि उपचार की लागत किफायती नहीं है, इसलिए आप ऑनलाइन प्लान्स की तुलना करके उन प्लान का चयन करना चाह सकते हैं जो सभी लागतों को कवर करने के लिए उच्च सम एश्योर्ड प्रदान करती हैं।

नवीनीकरण के लाभ

हेल्थ इंश्योरेंस योजना के तहत दिया जाने वाला नो-क्लेम बोनस, जिसे बढ़ी हुई बीमा राशि या कम प्रीमियम भुगतान के रूप में देखा जाता है, एक प्रकार का लचीलापन है, जिस पर आपको सबसे अच्छी योजना चुनने के लिए पॉलिसी को नवीनीकृत करते समय विचार करना चाहिए।

क्लेम सेटलमेंट रेशिओ (सीएसआर)

हेल्थ क्लेम के निपटारे के संबंध में उनकी सफलता दर निर्धारित करने के लिए, सीएसआर इंश्युरर द्वारा स्वीकृत कुल सफलतापूर्वक क्लेम के लिए दायर किए गए कुल क्लेम को मापने की इकाई है| ऐसे इंश्योरेंस प्रोवाइडर्स (इंश्योरेंस देने वाली कंपनीयां) की तलाश करना आवश्यक है जिनके पास उच्च सीएसआर रेटिंग है| क्लेम निपटान प्रक्रिया में उतनी अधिक सरल (आसान) होगी।

आपको हेल्थ इंश्योरेंस योजनाओं की तुलना ऑनलाइन क्यों करनी चाहिए?

ऑनलाइन हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीदने से हमारा जीवन आसान हो गया है और विभिन्न प्लान्स की ऑनलाइन तुलना करने का विकल्प आपको सर्वोत्तम योजना चुनने में मदद करने के लिए अधिक सुविधाजनक है। हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स की ऑनलाइन तुलना करने के कुछ प्रमुख लाभ इस प्रकार हैं:

  • हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स की व्यापक श्रेणी तक आसानी से पहुंच
  • आपकी स्वास्थ्य आवश्यकताओं, आय और उम्र के आधार पर, आप एक बटन के क्लिक पर नि:शुल्क कोटेशन ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।
  • आपकी सुविधा और समय के अनुसार प्लान की जांच और तुलना करने की सुविधा अतुलनीय है। इसका मतलब है कि आप घर पर आराम से बैठकर इस निर्णय में परिवार के अन्य सदस्यों को शामिल करके यह तय कर सकते हैं कि आपको कौन सी योजना लेनी चाहिए।

हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेटर जैसे उपकरण आसानी से ऑनलाइन उपलब्ध हैं, जो आपको भुगतान करने की अपनी क्षमता का पता लगाने में मदद करते हैं और क्या कोई विशेष प्रीमियम योजना आपके लिए काम करती है या नहीं, यह भी देखती हैं।

हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम की गणना कैसे करें?

अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम की गणना करने के लिए, आपको अपनी स्वास्थ्य आवश्यकताओं, आय, आयु, लिंग और अपने व्यवसाय के आधार पर भुगतान करने की अपनी क्षमता का मूल्यांकन करना होगा। एक बार जब आप इन सभी कारकों से अवगत हो जाते हैं, तो आपको यह विचार करना होगा कि आपको किस प्रकार का मतलब मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक या वार्षिक भुगतान उपयुक्त है। अपनी ज़रूरतों और क्षमताओं के बारे में पर्याप्त जानने से यह सुनिश्चित हो जाएगा कि आपने प्रीमियम पेमेंट के साथ एक ऐसा प्लान लिया हैं जो आपको बोझ नहीं लगेगा।

यदि आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्लान के बारे में कोई प्रश्न या संदेह है या यदि आप खुद को कोई ऐसी जगह पाते है जहां आपको मार्गदर्शन करने के लिए एक विशेषज्ञ की आवश्यकता होती है, तो आप हमेशा मैक्स लाइफ इंश्योरेंस पर हमसे संपर्क कर सकते हैं|

मैक्स लाइफ कैंसर इंश्योरेंस प्लान के लाभ

when-start-investing-wrapper-img

मैक्स लाइफ कैंसर इंश्योरेंस प्लान

(UIN-104N093V03) एक नॉन-लिंक्ड नॉन-पार्टिसिपेटिंग पर्सनल नेट रिस्क हेल्थ इंश्योरेंस प्लान है। प्लान के अंतर्गत परिभाषित लाभ केवल निर्दिष्ट कैंसर के निदान पर ही देय हैं। हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज के तहत कोई परिपक्वता (मैच्योरिटी) या समर्पण लाभ (सरेंडर बेनिफिट) उपलब्ध नहीं है।

भारत में लाइफ इंश्योरेंस कंपनियों में से एक के रूप में, हम मैक्स लाइफ कैंसर इंश्योरेंस प्लान के साथ निम्नलिखित लाभ प्रदान करते हैं–

1. कैंसर की सभी अवस्थाओं के लिए कवरेज

मैक्स लाइफ कैंसर इंश्योरेंस प्लान कैंसर के सभी चरणों से सुरक्षा प्रदान करता है। यदि आपको प्रारंभिक अवस्था में कैंसर का पता चलता है, तो आपको योजना के तहत सम एश्युर्ड का 20% अग्रिम रूप से प्राप्त होगा, जबकि शेष राशि का भुगतान कैंसर के एक प्रमुख चरण में विकसित होने पर किया जाएगा।

2. एकमुश्त पेआउट का दोहरा लाभ

यदि आपको मुख्य चरण के कैंसर का पता चलता है, तो आपको अगले पांच वर्षों के लिए अतिरिक्त 10% आय (वार्षिक) के साथ संपूर्ण इंश्योरेंस राशि प्राप्त होगी।

3. सम एश्युर्ड का इंडेक्सेशन

मैक्स लाइफ कैंसर इंश्योरेंस प्लान इनबिल्ट-इंडेक्सेशन लाभ प्रदान करता है। यहां योजना के तहत सम इंश्युर्ड बिना किसी अतिरिक्त लागत के पहले पांच क्लेम फ्री वर्षों के लिए 10% (साधारण दर) बढ़ जाती है (बेसिक सम एश्युर्ड का अधिकतम 150% तक)।

4. महत्वपूर्ण टैक्स सेविंग बेनिफिट्स

कर लाभ आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80D के अंतर्गत भुगतान किए गए प्रीमियम और आपके द्वारा प्राप्त लाभों पर लागू होते हैं। मौजूदा कर कानूनों के अनुसार कर लाभ परिवर्तन के अधीन हैं।

5.कैंसर का समय से पहले पता चलने पर प्रीमियम में छूट

यदि आपको प्रारंभिक चरण के कैंसर या पूर्व-कैंसर (कार्सिनोमा-इन-सीटू) का निदान किया जाता है, तो आपको तुरंत बीमा राशि (सम एश्युर्ड) का एक निश्चित प्रतिशत प्राप्त होगा, और भविष्य के सभी प्रीमियम माफ कर दिए जाएंगे।

6. लंबी अवधि का कवरेज

मैक्स लाइफ कैंसर इंश्योरेंस प्लान इसे एक बेहतरीन हेल्थ इंश्योरेंस प्लान बनाता है जिससे आप 75 साल की उम्र तक हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज का लाभ उठा सकते हैं,

हेल्थ इंश्योरेंस प्लान, कैंसर इंश्योरेंस और क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस में क्या अंतर है?

when-start-investing-wrapper-img

भारत में, विभिन्न स्वास्थ्य बीमारियों और संबंधित अस्पताल में भर्ती के लिए चिकित्सा उपचार के खर्चों के खिलाफ वित्तीय (धन संबंधी) सहायता प्राप्त करने के लिए क्रिटिकल इलनेस (सीआई) और हेल्थ इंश्योरेंस योजनाओं में निवेश करना बुद्धिमानी है।

हालांकि, देश में कैंसर रोगियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए, कैंसर के इलाज के खर्चों से जुड़े धन संबंधी बोझ को कम करने के लिए एक समर्पित कैंसर इंश्योरेंस योजना खरीदने पर विचार करना योग्य है।

आपको समझने में मदद करने के लिए, हम नीचे दी गई तालिका में हेल्थ इंश्योरेंस, सीआई इंश्योरेंस और कैंसर इंश्योरेंस के बीच मुख्य अंतरों को सूचीबद्ध करते हैं।

इंश्योरेंस का प्रकारकैंसर इंश्योरेंसक्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंसहेल्थ इंश्योरेंस प्लान
खरीदने का कारण

• निदान के बाद एकमुश्त भुगतान करके कैंसर के इलाज की लागत को कवर करता है

• लाभ-आधारित पॉलिसी

• निदान के बाद एकमुश्त भुगतान

• लाभ आधारित पॉलिसी

• आम तौर पर होने वाली बीमारियों के लिए मूलभूत क्षतिपूर्ति (मुआवजा) आधारित योजना

• लागत प्रतिपूर्ति या कैशलेस (बिना धन के) उपचार प्रदान करता है|

यह क्या कवर करता है?कैंसर के सभी चरणों में धन संबंधी सुरक्षा प्रदान करता है|पॉलिसी दस्तावेज़ के अनुसार सामान्य गंभीर बीमारीइसमें चिकित्सा और सर्जिकल लागत शामिल है|
किसे खरीदना चाहिए?

•उन लोगों के लिए योग्य है जो कैंसर के विरुद्ध तैयारी करना चाहते हैं|

• आप हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ कैंसर इंश्योरेंस भी खरीद सकते हैं।

• उन लोगों के लिए योग्य है जो गंभीर बीमारियों के विरुद्ध तैयारी करना चाहते हैं|

• आप क्रिटिकल इलनेस पॉलिसी के साथ हेल्थ इंश्योरेंस खरीद सकते हैं|

• स्वास्थ्य देखभाल के बढ़ते खर्चों से निपटने के लिए योग्य।

• अन्य दो की तुलना में पसंद किया जाता है।

• कैंसर और क्रिटिकल इलनेस कवर (गंभीर बीमारी) बाद में जुड़ सकता है|

हेल्थ इंश्योरेंस सहित चिकित्सा आपात स्थिति से सुरक्षा सुनिश्चित करना|

आजकल, हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज चिकित्सा उपचार की बढ़ते खर्चों के खिलाफ एक संसाधनपूर्ण हथियार बन गया है। हेल्थ इंश्योरेंस योजनाएं विभिन्न रोगियों के अस्पताल में भर्ती होने और इलाज के खर्च के लिए व्यापक स्तर पर वित्तीय (धन संबंधी) सहायता प्रदान करती हैं।

साथ ही, आप क्रिटिकल इलनेस (गंभीर बीमारीयां) (CI) और कैंसर इंश्योरेंस प्लान सहित अपनी बुनियादी चिकित्सा इंश्योरेंस पॉलिसी का विस्तार करके अपने हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज को बढ़ा सकते हैं। इस तरह, आप कैंसर सहित सामान्य और जानलेवा बीमारियों से होने वाली धन संबंधी सुरक्षा का लाभ उठा सकते हैं। खरीदने से पहले हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेशियो जरूर चेक कर लें। मैक्स लाइफ कैंसर इंश्योरेंस प्लान (UIN-104N093V03) कैंसर के सभी चरणों पर व्यापक कवरेज प्रदान करता है। आप मैक्स लाइफ ग्रुप क्रिटिकल इलनेस (अतिरिक्त लाभ) प्रीमियर रायडर (UIN: 104B031V02)* का लाभ उठाकर 40 जानलेवा बीमारियों जैसे किडनी फेलीयर, स्ट्रोक, ओपन चेस्ट सीएबीजी (कोरोनरी आर्टरी बायपास ग्राफ्ट), मसल स्क्लेरोसिस और परमानेंट पैरालिसिस से खुद को सुरक्षित कर सकते हैं।

हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़े भ्रांतियां

हेल्थ इंश्योरेंस के बारे में जागरूकता अच्छी बात है, लेकिन इससे भ्रांतियां और विचार भी जंगल की आग की तरह फैलते हैं। कुछ सामान्य भ्रांतियों में शामिल हैं:

1. ‘मैं स्वस्थ हूं, इसलिए मुझे हेल्थ इंश्योरेंस की आवश्यकता नहीं है’

खैर, यह निश्चित रूप से सच नहीं है। यहां तक ​​कि जब आप स्वस्थ और युवा होते हैं, तब भी हेल्थ इंश्योरेंस में निवेश करना लंबे समय में फायदेमंद होता है। आप किसी भी अनपेक्षित स्वास्थ्य दुर्घटना से सुरक्षित हैं जो हो सकती है और आप चिंता मुक्त रह सकते हैं।

2. ‘मैं धूम्रपान करता हूं इसलिए मैं हेल्थ इंश्योरेंस प्लान नहीं खरीद सकता’

इंश्योरेंस प्रोवाइडर (इंश्योरेंस देने वाली कंपनी) उच्च प्रीमियम चार्ज कर सकते हैं और प्रतीक्षा अवधि बढ़ा सकते हैं क्योंकि आपकी धूम्रपान की आदत फेफड़ों के कैंसर या श्वसन समस्याओं जैसी जटिल स्वास्थ्य स्थितियों को जन्म दे सकती है और पॉलिसी खरीदने से पहले आपको मौजूदा बीमारी के विकास के संभावित जोखिम में डाल सकती है। लेकिन निश्चिंत रहें, धूम्रपान की वजह से हेल्थ इंश्योरेंस को पूरी तरह से नकारा नहीं जा सकता।

3. ‘यदि मैं अपनी हेल्थ पॉलिसी का नवीनीकरण नहीं करता, तो क्या मेरे सभी लाभ समाप्त हो जायेंगे|’

सभी इंश्योरेंस नवीनीकरण देय तिथि के बाद 30 दिनों तक की विस्तारित अवधि की पेशकश करते हैं जिसमें आप अपने किसी भी लाभ और बोनस को खोए बिना अपनी पॉलिसी को नवीनीकृत कर सकते हैं। तो, यह एक पूर्ण मिथक है न कि वास्तविकता।

हेल्थ इंश्योरेंस संबंधी अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

search

भारत में सबसे अच्छी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी चुनते समय, वह खरीदें जो आपकी आवश्यकताओं को पूरा करती हो और आपके बजट के अनुकूल हो। हालांकि, भारत में सर्वश्रेष्ठ हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी का इष्टतम मूल्य प्राप्त करने के लिए, आपको लागत पर विचार करने से पहले योजनाओं के लाभों पर विचार करना चाहिए। अधिक सटीक अनुमानों के लिए आप हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं। साथ ही, इंश्योरेंस प्रोवाइडर (इंश्योरेंस देने वाली कंपनी) के हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम निपटान अनुपात की जांच करना न भूलें।

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी की तलाश करते समय, आपको उनकी पॉलिसी में शामिल बीमारियों पर ध्यान देना चाहिए। यह अलग-अलग हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स में भिन्न हो सकता है, हालांकि, इसमें आमतौर पर शामिल हैं:

  1. मोतियाबिंद सर्जरी
  2. कैंसर
  3. डेंगी
  4. मधुमेह
  5. दुर्घटनाओं के कारण चोट लगना

भारत में आज कुछ हेल्थ इंश्योरेंस योजनाएं कैंसर सहित लगभग सभी गंभीर बीमारियों को कवर करती हैं। ये नीतियां आम तौर पर केवल भारतीय अस्पतालों में अस्पताल में भर्ती होने और देखभाल को कवर करती हैं। हालांकि, आपको मिलने वाली सर्वोत्तम हेल्थ इंश्योरेंस योजना के साथ क्रिटिकल इलनेस पॉलिसी के संयोजन से हमें व्यापक कवरेज प्राप्त होता है।

पॉलिसीहोल्डर भारत में हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने के 30 से 90 दिनों के भीतर किसी भी प्रकार के अस्पताल में भर्ती, पहले से सूचित या आपात स्थिति के लिए इंश्योरेंस कंपनी से भुगतान का क्लेम नहीं कर सकता है। हेल्थ इंश्योरेंस के लिए कोई भी क्लेम दायर करने से पहले आपको पॉलिसी खरीदने के बाद 30 से 90 दिनों तक इंतजार करना होगा। इंश्युरर के रिकॉर्ड का बेहतर अंदाजा लगाने के लिए उनके हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम के निपटान का अनुपात देखें।

यह संभव है कि आपको भारत में ऐसी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी नहीं मिलेगी, जो पहले से ही कैंसर से पीड़ित व्यक्ति को कवर करेगी, हालांकि, गंभीर बीमारी के लिए कवर को मौजूदा टर्म प्लान में जोड़ा जा सकता है।

जब आप भारत में सबसे अच्छी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते हैं तो एक प्रतीक्षा अवधि होती है, जिसे हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी का क्लेम करने से पहले आपको इ��े पूरा करना होगा।

मुख्य लाभों के आधार पर क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस पैकेज खरीदना फायदेमंद है। यह योजना आपको शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से मन की शांति बनाए रखने में मदद करती है और गंभीर बीमारी की स्थिति में जल्दी ठीक होने में भी आपकी मदद करती है।

भारत में एक मानक हेल्थ इंश्योरेंस योजना मुख्य रूप से अस्पताल में भर्ती होने की लागत को कवर करती है। दूसरी ओर, क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस, पॉलिसी द्वारा कवर की गई गंभीर बीमारी का निदान होने पर एकमुश्त भुगतान करता है। जब आप एक हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेटर का उपयोग करते हैं, तो आप देख सकते हैं कि एक गंभीर बीमारी कवर जोड़ने से आपकी प्रीमियम राशि कैसे प्रभावित होती है।

मुख्य लाभों के आधार पर क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस पैकेज खरीदना फायदेमंद है। यह योजना आपको शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से मन की शांति बनाए रखने में मदद करती है और गंभीर बीमारी की स्थिति में जल्दी ठीक होने में भी आपकी मदद करती है।

भारत में कुछ बेहतरीन हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों द्वारा कैशलेस (बिना धन के) सुविधा की पेशकश की जाती है जिसमें इंश्योरेंस प्रोवाइडर (इंश्योरेंस देने वाली कंपनी) आपके बिलों का सीधे अस्पताल में भुगतान करेगा। आपको एक पैसा भी देने की जरूरत नहीं है क्योंकि इंश्योरेंस कंपनी आपकी ओर से लागत को कवर करेगी| खरीदने से पहले कंपनी का हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेशियो जरूर चेक कर लें।

पॉलिसी के प्रकार, नियम और शर्तों और इंश्योरेंस प्रोवाइडर (इंश्योरेंस देने वाली कंपनी) के आधार पर, आप भारत में मौजूदा हेल्थ इंश्योरेंस प्लान में अपने परिवार के सदस्यों को जोड़ सकते हैं।

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस के सिंगल क्लेम के लिए, आप अपनी एम्पलॉयर ग्रुप पॉलिसी, अपनी एम्पलॉई हेल्थ पॉलिसी और अपनी टॉप-अप हेल्थ पॉलिसी जैसी विभिन्न योजनाओं का उपयोग कर सकते हैं। अपने धन के बेहतर नियोजन के लिए हेल्थ प्लान खरीदते समय हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेटर का उपयोग करें।

भारत में एक हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी के साथ, आप एक किफायती मूल्य पर लाभ प्राप्त कर सकते हैं। हालाँकि, राशि आपके द्वारा चुने गए लाभों और इंश्युरर के नियम और शर्तों पर निर्भर करती है। आप इंश्योरेंस कंपनी की वेबसाइट पर हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेटर का उपयोग करके संतोषजनक अनुमान प्राप्त कर सकते हैं।

हां, जब आप भारत में एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी की खोज करते हैं तो आपको कुछ ऐसी पॉलिसी मिल सकती हैं जिनमें विभिन्न चिकित्सा जांच शामिल हैं। इनमें ब्लड टेस्ट, स्टूल टेस्ट, सीटी स्कैन, एक्स-रे, सोनोग्राफी, एमआरआई और अन्य टेस्ट शामिल हैं।

आप अपने आधार कार्ड, वोटर आईडी, पासपोर्ट, पैन कार्ड और ड्राइविंग लाइसेंस को पहचान के प्रमाण के रूप में शामिल कर सकते हैं। पासपोर्ट साइज फोटो: हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर (इंश्योरेंस देने वाली कंपनी) को अक्सर सभी पॉलिसीहोल्डर्स की पासपोर्ट साइज फोटो की जरूरत होती है।

यदि आपकी आयु 45 वर्ष से कम है, तो अधिकांश हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियां आपको चिकित्सीय परीक्षण किये बिना पॉलिसी प्रदान करेंगी। 45 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों के लिए चिकित्सा जांच आवश्यक है। प्री-मेडिकल प्रक्रिया की लागत के लिए ग्राहक जिम्मेदार है।

मेडिक्लेम प्लान में एक निश्चित राशि तक केवल अस्पताल में भर्ती, दुर्घटना से संबंधित देखभाल और पूर्व निर्धारित बीमारियों को कवर किया जाता है। हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी अस्पताल में भर्ती होने से पहले, अस्पताल में भर्ती होने के बाद, विशिष्ट बीमा राशि और एम्बुलेंस के खर्च के लिए पर्याप्त कवरेज प्रदान करती है।

कैपिटलाइज़ेशन के रिटर्न के आधार पर हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम की गणना की जाती है।मेडिकल अंडरराइटिंग: इंश्योरेंस उत्पादों को व्यक्तिगत और ग्रुप पॉलिसी को संतुलित करने के लिए लिखा जाता है। इसके लिए, विभिन्न कोणों से जोखिम का विश्लेषण किया जाता है और विचाराधीन कारकों के व्यापक स्पेक्ट्रम को ध्यान में रखा जाता है। पॉलिसी खरीदार के रूप में, आप विवरण देखने के लिए हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं।

आप वित्तीय वर्ष में भुगतान किए गए हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम पर आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80D के तहत कटौती का क्लेम कर सकते हैं। धारा 80D के अंतर्गत, आप भुगतान किए गए हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम के लिए 1,00,000 रुपये तक की कटौती पा सकते हैं। परिवारों और माता-पिता के लिए हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम के बारे में और जानने के लिए,यहां क्लिक करें।

हेल्थ इंश्योरेंस में वेटिंग पीरियड या कूलिंग पीरियड वह समय होता है, जब आपको अपनी पॉलिसी के शुरू होने तक इंतजार करना पड़ता है। प्रतीक्षा अवधि में, आप कोई हेल्थ इंश्योरेंस लाभ प्राप्त नहीं कर पाएंगे। इस अवधि के दौरान कोई भी हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम इंश्युरर द्वारा स्वीकार नहीं किया जाता है। प्रतीक्षा अवधि के दौरान कुछ हेल्थ इंश्युरर क्लेम स्वीकार कर सकते हैं। आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी की प्रतीक्षा अवधि के बारे में अधिक जानने के लिए अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर (इंश्योरेंस देने वाली कंपनी) से जुड़ना चाहिए। साथ ही, भविष्य में किसी भी तरह की निराशा से बचने के लिए हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेशिओ की पहले से जांच कर लें।

यहां तक ​​​​कि अगर आपको लगता है कि आप स्वस्थ और फिट हैं, परंतु बीमारी और बीमार होना ऐसी चीजें हैं जिन्हें आप नियंत्रित नहीं कर सकते हैं, जिससे आपके लिए सुरक्षित महसूस करने के लिए सही निर्णय लेना महत्वपूर्ण हो जाता है| हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने से हम किसी भी गंभीर बीमारी की स्थिति में आर्थिक रूप से सुरक्षित महसूस करेंगे। इसलिए, जल्द से जल्द भारत में सर्वश्रेष्ठ हेल्थ इंश्योरेंस प्लान लेने की सलाह दी जाती है। यदि आप जीवन की शुरुआत में ही हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी लेते हैं तो हेल्थ इंश्योरेंस के कुछ लाभ यहां दिए गए हैं:

  1. कम प्रीमियम
  2. नियमित हेल्थ चेक अप के साथ स्वस्थ जीवनशैली
  3. कोई धन संबंधी तनाव नहीं है क्योंकि चिकित्सा उपचार, डॉक्टर के बिलों, दवाओं का भुगतान यह करता है|

भारत में सबसे अच्छा हेल्थ इंश्योरेंस चुनने के लिए आपको निम्नलिखित कारकों पर विचार करना चाहिए:

  1. सम एश्युर्ड
  2. कवरेज सीमा
  3. प्रीमियम राशि
  4. प्रवेश आयु
  5. समावेशन और अपवाद
  6. नो क्लेम बोनस
  7. प्रतीक्षा अवधि
हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेटर इन कारकों पर विचार करेगा और आपकी वित्तीय (धन संबंधी) प्रोफ़ाइल के लिए उपयुक्त कवरेज और प्रीमियम दरों का अनुमान लगाएगा। इसके अलावा, हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट रेशिओ एक अन्य महत्वपूर्ण कारक है जिस पर विचार किया जाना चाहिए।

हालांकि ऐसे कई कारक हैं जो हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज निर्धारित करते हैं, आप अपनी चिकित्सा स्थिति, परिवार के सदस्यों की चिकित्सा पृष्ठभूमि, आय, आयु, स्वास्थ्य जोखिम और सबसे महत्वपूर्ण हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम की राशि के आधार पर अपने हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज का चयन कर सकते हैं।
आप अपनी वित्तीय (धन संबंधी) स्थिति पर प्रभाव देखने के लिए हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेटर का उपयोग करके कम उम्र में ही भारत में एक हेल्थ इंश्योरेंस प्लान चुन सकते हैं।

जब आप अपने हेल्थ इंश्योरेंस का क्लेम करते हैं, तो इसका मतलब है कि आपके इंश्योरेंस प्रोवाइडर (इंश्योरेंस देने वाली कंपनी) द्वारा सम इंश्युर्ड तक सभी चिकित्सा खर्च कवर किए जाते हैं। इसलिए यदि आपके पास हेल्थ इंश्योरेंस समाप्त हो गया है, तो आप सभी लाभों का आनंद लेने के लिए टॉप अप योजनाओं का विकल्प चुन सकते हैं या हर साल अपनी पॉलिसी को नवीनीकृत कर सकते हैं।

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने के योग्य होने के लिए भारत का नागरिक होना अनिवार्य नहीं है। अगर आप विदेशी नागरिक हैं तो भी आप भारत में हेल्थ पॉलिसी ले सकते हैं। आपको बस अपनी आवश्यकताओं को और पॉलिसी के नियमों और शर्तों को ध्यान से समझना होगा।

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी का हर साल नवीनीकरण किया जाना चाहिए। वे आम तौर पर एक साल तक चलते हैं जिसके बाद आपको अपनी बदलती जरूरतों के अनुसार अपडेट करते रहना होगा। सर्वोत्तम हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी आपकी चुनी हुई हेल्थ पॉलिसी की अवधि बढ़ाने में आपकी सहायता करने के लिए आजीवन नवीनीकरण की पेशकश करती है।

धूम्रपान फेफड़ों के कैंसर और सांस की समस्याओं जैसी पुरानी बीमारियों के जोखिम को बढ़ाता है और हेल्थ प्लान खरीदने से पहले इन बीमारियों का कारण भी बन सकता है, जिससे यह पहले से मौजूद स्थिति बन जाती है। जिसके लिए आपको 2 से 5 साल का वेटिंग पीरियड पूरा करना होगा। यह आपकी हेल्थ इंश्योरेंस लागत और प्रीमियम को भी प्रभावित करता है।

जब कोई स्वास्थ्य आपात स्थिति उत्पन्न होती है और आपको बिना नेटवर्क वाले अस्पताल में भर्ती कराया जाता है, तो आपकी हेल्थ प्लान के तहत लागत प्रतिपूर्ति (भरपाई) निपटान का विकल्प लागू होता है। इसके तहत आपको मेडिकल बिल का भुगतान उस समय अपनी जेब से करना होगा। बाद में, आप अपने इंश्योरेंस प्रोवाइडर (इंश्योरेंस देने वाली कंपनी) के पास प्रतिपूर्ति (भरपाई) निपटान दाखिल कर सकते हैं। अपनी हेल्थ प्लान के अनुसार हॉस्पिटलाइजेशन के सभी बिलों और अन्य खर्चों को कवर करें क्योंकि आपको उन्हें जमा करना होगा।

आप कम उम्र में ही किफायती हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स का लाभ उठा सकते हैं और स्वास्थ्य संबंधी किसी भी आपात स्थिति के लिए उपचार की तलाश कर सकते हैं, साथ ही साथ अपनी पॉलिसी का विस्तार करने के लिए राइडर्स के साथ व्यापक कवरेज भी प्राप्त कर सकते हैं। मंहगाई के कारण उच्च उपचार लागत से निपटना आसान हो जाता है और आपकी मेहनत की कमाई को बचाने में मदद करता है।

आपकी स्वास्थ्य आवश्यकताओं के अनुसार, जैसे ही आप 18 वर्ष के हो जाते हैं, एक व्यक्तिगत हेल्थ प्लान खरीदना हेल्थ इंश्योरेंस प्राप्त करने के लिए सर्वोत्तम आयु है क्योंकि उससे आप हर तरह की अनिश्चितताओं से कवर्ड हो जाते हैं|

ARN-PCP/HIH/260722

Sources:

www.nsiindia.gov.in/InternalPage.aspx?Id_Pk=89

www.nsiindia.gov.in/InternalPage.aspx?Id_Pk=55

www.indiapost.gov.in/Financial/pages/content/post-office-saving-schemes.aspx

www.nsiindia.gov.in/InternalPage.aspx?Id_Pk=134

www.incometaxindia.gov.in/Pages/tools/deduction-under-section-80c.aspx

www.rbi.org.in/Scripts/NotificationUser.aspx?Id=11865&Mode=0

www.rbi.org.in/Scripts/FAQView.aspx?Id=79

Max Life Insurance की ओर से ऑफ़र किए गए प्लान

  • MAX LIFE कैंसर इंश्योरेंस प्लान

    प्रारंभिक स्टेज में कैंसर का पता लगाने के लिए मल्टीपल क्लेम

    विलंब स्टेज में कैंसर का पता लगाने के दौरान भी 100% कवर राशि देय है

    हर क्लेम-फ़्री साल के साथ मूल राशि के 150% तक कवरेज बढ़ना

    Know more
  • Max Life क्रिटिकल इलनेस एंड डिसेबिलिटी राइडर

    आपके द्वारा चुने गए राइडर वेरिएंट के आधार पर 64 गंभीर बीमारियों के विरुद्ध अतिरिक्त सुरक्षा

    बीमारी या चोट लगने की वजह से होने वाली विकलांगता पर कुल और स्थायी डिसेबिलिटी कवर

    आपके द्वारा संचित किए गए हेल्दी वीक के अनुसार सालाना रीन्यूअल प्रीमियम पर छूट पाने के लिए वेलनेस बेनिफ़िट (स्वास्थ्य लाभ)

    Know more
  • Max Life स्मार्ट सिक्योर प्लस प्लान

    पॉलिसी अवधि के दौरान आपके दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु के मामले में आपके परिवार के सदस्यों के लिए कंप्रेहेंसिव डेथ बेनिफ़िट (व्यापक मृत्यु लाभ)

    आपके जीवन के लक्ष्यों को पूरा करने में मदद करने के लिए गारंटीड मैच्योरिटी बेनिफ़िट/इनकम बेनिफ़िट और अक्योर्ड गारंटीड एडिशन बेनिफ़िट

    मल्टीपल वैरिएंट - एकमुश्त; अल्पकालिक आय, दीर्घकालिक आय, और अलग-अलग लाभों के साथ ताउम्र आय

    Know more

Customer Reviews

Max Life Health Plans

“The idea of buying an insurance plan struck me when a close family member was diagnosed with early stage cancer. His recovery is going good, but I have seen him struggling to meet extra burden of costly medicines. That’s why I have invested in Max Life Cancer plan which provides sufficient coverage throughout all stages of Cancer.”

Mr. Maurya

Saving Health Plans

“Max Life Cancer Plan is one of the best health plans in India with coverage across all stages of Cancer treatment. It is a fairly simple and affordable plan.”

Mr. Bose

Share your Valuable Feedback
Rating Icon

4.3

Rated by 18025 customers

Was the Information Helpful?

Very Good

StickyImage

99.34% दावा भुगतान अनुपात^

डिसेबिलिटी (विकलांगता) कवर

Online Sales Helpline
  • 0124 648 8900(09:00 AM to 09:00 PM Monday to Saturday)
  • service.helpdesk@maxlifeinsurance.comEmail
  • SMS ‘LIFE’ to 5616188Message
  • Let us call you back
Customer Service
  • 1860 120 5577(9:00 AM to 6:00 PM Monday to Saturday)
  • Chat with us
  • Write to usPlease write to us incase of any escalation/feedback/queries.
NRI Helpdesk
  • 011-71025900, 011-61329950(9:00 AM to 6:00 PM Monday to Saturday)
  • nri.helpdesk@maxlifeinsurance.comPlease write to us incase of any escalation/feedback/queries.