निवेश प्लान

निवेश के अर्थ को समझना महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपको सोचे समझे विकल्प बनाने में मदद करेगा। लोग अपने पैसो को बढ़ने देने के इरादे से निवेश करते हैं। उत्पन्न धन का उपयोग विभिन्न वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने के लिए किया जा सकता है जैसे लोन का भुगतान, अन्य संपत्ति की खरीद, आदि।...Read More

मैक्स लाइफ इन्वेस्टमेंट प्लान के साथ अपनी बचत को अधिकतम करें

निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान क्या है?

निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान, भविष्य के लिए स्थायी संपत्ति बनाने में मदद करने वाला एक वित्तीय साधन हैं। अपने वित्तीय उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए विभिन्न मुद्रा-बाजार उत्पादों में अनुशासित और आवधिक तरीके से अपनी बचत का निवेश करने में देश के विभिन्न निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान्स हमें सक्षम बनाते हैं।

कुल मिलाकर, निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान हमारी बचत को बढ़ाने और व्यवस्थित, दीर्घकालिक निवेश के माध्यम से भविष्य के लिए धन बनाने के लिए आवश्यक लाभ प्रदान करती हैं। भारत में निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान बनाने की दिशा में पहला कदम अपनी रिस्क प्रोफ़ाइल और वित्तीय जरूरतों का मूल्यांकन करना है और फिर अपनी आवश्यकताओं से मेल खाने वाली निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान का चयन करना है। भारत में उपलब्ध निवेश के कुछ विकल्पों में शामिल हैं:

  1. यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान (यूलिप)
  2. मंथली इनकम प्लान
  3. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ)
  4. म्यूचुअल फंड्स
  5. सुकन्या समृद्धि खाता
  6. सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (एससीएसएस)
  7. टैक्स सेविंग फिक्���्ड डिपॉजिट

इन निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान और कई अन्य के लिए आपको विस्तृत रूप से शोध करने की आवश्यकता है और फिर उन निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान का चयन करना चाहिए जो दीर्घकालिक स्थायी लाभ, कर-बचत लाभ और पूंजी मूल्यवृद्धि प्रदान करें। भारत में ऐसी कई निवेश योजनाएं हैं जो आपके काम आ सकती हैं।

निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान चुनते समय ध्यान देने योग्य बातें

वित्तीय उद्देश्य

निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान चुनने से पहले आपके वित्तीय लक्ष्य के बारे में सोचना चाहिए कि वह दीर्घकालिक और अल्पकालिक दोनों हैं। ये लक्ष्य शादी और शिक्षा से लेकर अंतर्राष्ट्रीय यात्रा और नए स्मार्टफोन तक कुछ भी हो सकते हैं और ऐसे वित्तीय लक्ष्य निर्धारित करने से आपको सोच-समझकर निर्णय लेने में मदद मिलेगी। उदाहरण के लिए, यदि आप अपने पसंदीदा आगामी विदेश यात्रा के लिए बचत करना चाहते हैं, तो आवर्ती जमा (आरडी) या डाकघर जमा (पोस्ट ऑफिस डिपॉजिट) आपके लिए स���्वोत्तम निवेश योजनाओं में से एक हो सकता है।

नियोजित आगामी खर्च

यदि आप भारत में निवेश योजना की तलाश कर रहे हैं, तो अपने नियोजित भविष्य के खर्चों, जैसे कि आपके बच्चे की शादी और शिक्षा या घर खरीदना, का अनुमान लगाना एक महत्वपूर्ण कदम होगा। ऐसा करने से आपको इस बात का बेहतर अंदाजा होगा कि भविष्य के किसी भी खर्च को कवर करने के लिए पर्याप्त रिटर्न पाने के लिए आपको अभी कितना निवेश करने की जरूरत है।

वर्तमान खर्च

सर्वोत्तम निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान खोजने के लिये अपने वर्तमान खर्चों का मूल्यांकन करना बहुत जरूरी है। उदाहरण स्वरुप यदि आपके पास किराए जैसा कोई बड़ा खर्च नहीं है, तो आप लंबे समय तक बचत करके अधिक निवेश कर सकते हैं। और यदि आपके पास कुछ वित्तीय दायित्व हैं जिससे आप अधिक बचत नहीं कर पाते हैं, तो उच्च रिटर्न वाले निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान में निवेश करना अधिक लाभदायक सिद्ध होगा।

वित्तीय निर्भरता

भारत में निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान खरीदते समय ज्यादातर लोग अपनी वित्तीय निर्भरता के बारे में सोचते नहीं हैं। जबकि, ऐसा करना महत्वपूर्ण रहता हैं जिससे आपके पास एक ऐसा निवेश (इन्वेस्टमेंट) या बचत पूल होना चाहिए जो आपके उपर निर्भर लोगों के वित्तीय उद्देश्यों के लिए भी पर्याप्त हो। उदाहरण के लिए, जिनके माता-पिता, भाई-बहन और बच्चे हैं उनकी तुलना में यदि आपके केवल दो बच्चे हैं जो आप पर निर्भर हैं, तो आपको अधिक निवेश (इन्वेस्टमेंट) करने की आवश्यकता नहीं होगी।

शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट प्लान्स

investment-plans-data-img

1 वर्ष के लिए निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान

यदि आप एक छोटी अवधि के निवेश को पसंद करते हैं, तो आपको 3 साल की लॉकिंग अवधि भी लंबी लग सकती है। हालांकि, 12 महीने की कई निवेश योजनाएं हैं जो आपको बाजार के जोखिम से दूर रखने में भी मदद कर सकती हैं। यहां कुछ प्रमुख अल्पकालिक निवेश योजनाएं दी गई हैं जिन पर आप विचार कर सकते हैं:

  • आवर्ती जमा (आरडी)
  • फिक्स्ड मैच्योरिटी प्लान
  • डाकघर जमा
  • आर्बिट्रेज फंड्स
  • डेट फंड
  • फिक्स्ड डिपॉजिट
investment-plans-data-img

3 वर्षों के लिए निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान

शॉर्ट-टर्म इन्वेस्टमेंट प्लान का एक सामान्य बदलाव 3 साल की इन्वेस्टमेंट स्कीम है, और ये उन लोगों के लिए सबसे उपयुक्त हैं जो कम समय में ज्यादा रिटर्न चाहते हैं। यहां कुछ विकल्प दिए गए हैं जिन्हें आप ध्यान में रख सकते हैं:

  • लिक्विड फंड्स
  • फिक्स्ड मैच्योरिटी प्लान
  • आवर्ती जमा (आरडी)
  • बचत खाता
  • आर्बिट्रेज फंड्स
investment-plans-data-img

5 वर्षों के लिए निवेश (इन्वेस्टमेंट) प्लान

हालांकि 5 साल एक लंबी अवधि है, भारत में 5 साल की निवेश योजना को आम तौर पर कम बाजार जोखिम के साथ अल्पकालिक निवेश माना जाता है। हालांकि, 5 साल की निवेश योजना पर रिटर्न अन्य अल्पकालिक निवेशों की तुलना में बहुत अधिक है। तो, यहां कुछ विकल्प हैं जिनका आप मूल्यांकन कर सकते हैं:

  • बचत खाता
  • लिक्विड फंड्स
  • पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट
  • लार्ज कैप म्युचुअल फंड

निवेश योजनाओं के लाभ

typesOfInvestments
benefits-investment-plans

धन (संपत्ति) बनाना

निवेश योजनाएं आपको जीवन की अनिश्चितताओं की चिंता किए बिना धन (संपत्ति) बनाने में मदद कर सकती हैं। भारत में एक निवेशक के रूप में, आप अपनी जोखिम सहनशीलता, अपेक्षित रिटर्न और निवेश के लिए उपलब्ध राशि के आधार पर निवेश विकल्पों में से चुन सकते हैं।
benefits-investment-plans

स्थायी वित्तीय सुरक्षा

आपके पोर्टफोलियो में अलग-अलग इन्वेस्टमेंट प्लान होने से आपको अपने निवेश पर अच्छा रिटर्न पाने में मदद मिलेगी। मैच्योरिटी पर आपको लाभ के साथ रिटर्न भी मिलेगा। इस तरह आप अपने और अपने परिवार के लिए लंबी अवधि की वित्तीय सुरक्षा हासिल कर सकते हैं।
benefits-investment-plans

डेथ रिस्क कवरेज (यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान)

यूलिप इन्वेस्टमेंट प्लान्स (जैसे मैक्स लाइफ ऑनलाइन सेविंग प्लान्स) डेथ रिस्क कवरेज ऑप्शन ऑफर करते हैं। इन निवेश योजनाओं में निवेश करके, आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपकी अनुपस्थिति में आपके प्रियजन आर्थिक रूप से सुरक्षित रहेंगे।
benefits-investment-plans

सेवानिवृत्ति बचत

भारत में आप अपनी बचत को निवेश के कुछ विकल्पों में निवेश कर सकते हैं, ताकि एक कोष तैयार किया जा सके जो सेवानिवृत्ति के लिए आय के स्रोत के रूप में काम करेगा।
benefits-investment-plans

लचीलापन (फ्लेक्झीबिलीटी)

आज उपलब्ध विभिन्न निवेश योजनाओं के साथ, आप अपने लक्ष्यों और समयरेखा के आधार पर निवेश की राशि और अवधि चुनने के लचीलेपन का लाभ उठा सकते हैं।
benefits-investment-plans

टैक्स सेविंग बेनिफिट्स

यूलिप, ऑनलाइन सेविंग प्लान और इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम (ईएलएसएस) जैसी निवेश योजनाएं (इन्वेस्टमेंट-प्लान) मार्केट लिंक्ड रिटर्न के माध्यम से धन जमा करने के अवसर प्रदान करती हैं। साथ ही, ये निवेश योजनाएं (इन्वेस्टमेंट-प्लान) भारतीय कर अधिनियम, 1961 की धारा 80 C के अंतर्गत महत्वपूर्ण कर बचत4 लाभ प्रदान करती हैं। इन दो वर्गों के अंतर्गत, देय प्रीमियम और इंश्योरेंस पे आउट दोनों क्रमशः कर-कटौती योग्य और कर मुक्त हैं।.

निवेश कितने प्रकार के होते हैं ?

उच्च रिटर्न के साथ सर्वश्रेष्ठ निवेश योजनाओं में से चुनते समय, इन निवेश योजनाओं से जुड़े जोखिमों पर विचार करना महत्वपूर्ण है। निवेश योजनाओं के लिए, उनके जोखिम जो उम्मीद से कम प्रदर्शन कर रहे है या मूल्य के स्थायी नुकसान का अनुभव कर रहे है इसे परिसंपत्ति की संभावना या संभाव्यता के रूप में दर्शाया जा सकता है|
इस प्रकार, संबंधित जोखिमों के आधार पर, विभिन्न निवेश योजनाओं को तीन श्रेणियों में वर्गीकृत किया जाता है, जैसा कि नीचे दिखाया गया है:

Investment-image

कम जोखिम वाला निवेश

जैसा कि नाम से ही पता चलता है, जिनमें जोखिम कारक लगभग शून्य होता है वह कम जोखिम वाली निवेश योजनाएं होती हैं । अन्य शब्दों में कहा जाये, तो जिसमें जोखिम कम होती हैं वह निवेश योजनाएं स्थिर और भरोसेमंद, मूल्यवर्धित होती हैं एवं कम से कम नुकसान करती हैं। अधिक समझने के लिए शीर्ष निवेश विकल्पों की सूची नीचे दी गई है।

1. सुकन्या समृद्धि योजना

सुकन्या समृद्धि खाता लड़कियों के लिए भारत में सबसे अच्छी निवेश योजनाओं में से एक के रूप में लोकप्रिय हो रहा है। यदि आपकी बेटी है, तो इस योजना का उद्देश्य लड़कीयों के लिए एक ऐसा कोष तयार करना हैं जो धन जुटाने की सुविधा प्रदान करता है। सुकन्या समृद्धि योजना का खाता आप कमर्शियल बैंक और पोस्ट ऑफिस दोनों में खुलवा सकते हैं। इसके अलावा, आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80C के तहत, आप महत्वपूर्ण कर बचत4 भी प्राप्त कर सकते हैं।

2. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ)

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) के लाभों को देखते हुए यहं भारत में सबसे अच्छे निवेश विकल्पों में से एक है। अगर आप एक वेतनभोगी व्यक्ति हैं तो पीपीएफ आपको कई लाभ दे सकता है। हालांकि पीपीएफ पर ब्याज आय कर योग्य नहीं है, आप आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80C के अंतर्गत कर कटौती (टैक्स डिडक्शन) का लाभ भी उठा सकते हैं।

3. डाकघर मासिक आय योजना (पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम प्लान)

सामान्य तौर जो जोखिम (रिस्क) से बचना चाहते हैं उनके लिये डाकघर मासिक आय योजना (पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम प्लान) बहुत ही उपयुक्त हैं क्योंकी यह कम जोखिम के साथ अच्छा रिटर्न देती हैं| इस योजना को सबसे अच्छी निवेश योजनाओं में से एक के रूप में जाना जाता है| यहां, आपको समझना होगा कि हालांकि डाकघर मासिक आय योजना (पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम प्लान) से होने वाली आय पूरी तरह से टैक्सेबल है, पर यह मंथली इनकम प्लान पर टैक्स कटौती (टीडीएस) को आकर्षित नहीं करता।

4. वरिष्ठ नागरिकों के लिए सरकारी योजनाएं (एससीएसएस)

बचत के लिए वरिष्ठ नागरिक योजना - एससीएसएस, भारत सरकार की एक पहल है , जो इसे विभिन्न कारणों से भारत में निवेश के सर्वोत्तम विकल्पों में से एक के रूप में जाना जाता है।

पहला, यह योजना वरिष्ठ नागरिकों को महत्वपूर्ण वित्तीय सुरक्षा प्रदान करती है। दूसरी बात, सरकार द्वारा हर तिमाही में इस योजना की ब्याज दर तय की जाती है। आप डाकघर और किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक में एससीएसएस खाता खोल सकते हैं।

5. टैक्स सेविंग एफडी

टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) को भारत में सबसे अच्छी निवेश योजनाओं और निवेश योजनाओं में से एक माना जाता है क्योंकि वे धारा 80C के अंतर्गत महत्वपूर्ण कर बचत4 लाभ प्रदान करती हैं और आपकी कुल कर देयता को कम करने में आपकी सहायता करती हैं।

6. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड(या एसजीबी) को भारत सरकार का समर्थन प्राप्त है और यह भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा जारी किए जाते हैं। मूल रूप से, एसजीबी ऐसी सिक्युरिटीज हैं जो फिजिकल सोने को रखने के विकल्प के रूप में कार्य करती हैं और सोने की यूनिट्स (ग्राम) में अंकित होती हैं। मॅच्युरिटी पर, आप इन सिक्युरिटीज को नकद में रीडिम कर सकते हैं उससे यह भारत में सबसे अच्छे निवेश विकल्पों में से एक बन जाता है।

7. जीवन बीमा

बचत और आय योजनाएँ और सुरक्षा योजनाएँ जीवन बीमा की दो श्रेणियां हैं जो निम्न जोखिम श्रेणी के अंतर्गत आती हैं। ऐसी जीवन बीमा योजनाओं में कोई पहचान योग्य निवेश कारक नहीं होता है, जिसका अर्थ है कि ये बी��ा योजनाएं बाजार से संबंधित रिटर्न नहीं देती हैं। इसके बजाय, ये जीवन बीमा योजनाएं आपके परिवार के लिए एक मजबूत वित्तीय सुरक्षा जाल और जीवन अनिश्चितताओं के खिलाफ एक प्रभावी सुरक्षा के रूप में कार्य करती हैं।

8. बॉन्ड

बॉन्ड आपके जारीकर्ता को भुगतान किए गए ब्याज के प्रमाण पत्र हैं। प्रत्येक बॉन्ड पर आपको नियमित रूप से ब्याज का भुगतान किया जाता है और अंत में, अंकित मूल्य (फेस वैल्यू) वापस कर दिया जाता है। वैकल्पिक रूप से, यदि आपके जरूरत के अनुसार आप समाप्ति तिथि से पहले बॉन्ड बेच भी सकते हैं। बॉन्ड को उनकी सापेक्ष सुरक्षा के कारण भारत में सबसे अच्छे निवेश विकल्पों में से एक माना जाता है।

Investment-image

उच्च जोखिम वाला निवेश (हाई रिस्क इन्वेस्टमेंट)

जैसा कि नाम से पता चलता है, यदि आपका प्राथमीक ध्यान दीर्घकालिक पूंजी वृद्धि पर है, तो उच्च जोखिम वाली निवेश योजनाएं आपके लिए सही हैं। इसी दौरान, अधिकांश उच्च-जोखिम निवेश योजनाओं में महत्वपूर्ण उतार-चढ़ाव होते हैं, लेकिन लंबे समय में महत्वपूर्ण संभावित रिटर्न उत्पन्न करने के अवसर भी प्रदान करते हैं। उच्च जोखिम वाली निवेश योजनाओं के उदाहरणों में शामिल हैं:

1. डायरेक्ट इक्विटीज

इक्विटी रिस्क लेने वाले निवेशकों को अपने वित्तीय लक्ष्यों को हासिल करने का मौका देती है। जबकि प्रत्येक परिसंपत्ति अपने अनूठे तरीके से आवश्यक है, अन्य परिसंपत्तियों की तुलना में इस इक्विटी का एक लंबा ट्रैक रिकॉर्ड रहा है। इक्विटी निवेश में, आप एक कंपनी में हिस्सेदारी खरीद सकते हैं, जो निवेशक को व्यापार में लाभ और हानि का पात्र बनाता है।

2. यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान्स

यूलिप या यूनिट-लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान्स को आम तौर पर भारत में सबसे अच्छे निवेश विकल्पों में से एक माना जाता रहा है क्योंकि वे जीवन बीमा और निवेश दोनों पर लाभ प्रदान करते हैं। इतना ही नहीं, वे आपको अपने पैसे को हाई रिस्क, मीडियम और लो रिस्क में ट्रांसफर करने का विकल्प भी देते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह आपको अपने पैसे को विभिन्न फंड विकल्पों में निवेश करने की अनुमति देता है। जबकि प्रीमियम राशि का एक हिस्सा विभिन्न फंड विकल्पों (आपके निवेश उद्देश्यों और जोखिम प्रोफाइल के आधार पर) के लिए आवंटित किया जाता है, बाकी का उपयोग बहुत आवश्यक बीमा सुरक्षा प्रदान करने के लिए किया जाता है।

समग्र रूप से देखा जाये तो यूलिप ऐसी जीवन बीमा योजना हैं, जो आपके लक्ष्यों के आधार पर आपके पैसे को अलग-अलग मनी-मार्केट लिंक्ड एसेट्स में निवेश करने की एक अतिरिक्त सुविधा प्रदान करती है। इसलिए, यूलिप इक्विटी या बॉन्ड के प्रोफेशनल तौर से प्रबंधित पोर्टफोलियो में निवेश करने का एक अन्य मार्ग है। यूलिप के जरिए बॉन्ड फंड में निवेश करने का फायदा यह है कि मौजूदा टैक्स कानून के तहत आप सेक्शन 80C के तहत कर कटौती (टैक्स डिडक्शन) का फायदा उठा सकते हैं।

यूलिप जोखिम श्रेणियों के स्पष्ट वर्गीकरण की पेशकश करते हैं, जहां आप लंबी अवधि के लक्ष्यों के लिए उच्च जोखिम वाले फंड को चुन सकते हैं। आप धीरे-धीरे कम जोखिम वाले निवेशों में स्थानांतरित हो सकते हैं क्योंकि आपका निवेश मॅच्युरिटी के करीब है।

3. म्यूचुअल फंड्स

म्यूचुअल फंड तब बनते हैं जब विभिन्न निवेशकों से पैसा जुटाया जाता है और कंपनी के स्टॉक या बॉन्ड में निवेश किया जाता है। आमतौर पर, एक म्यूचुअल फंड को हजारों निवेशकों द्वारा शेयर किया जाता है और अधिकतम रिटर्न के लिए सामूहिक रूप से प्रबंधित किया जाता है। म्यूचुअल फंड को चलाने वाला व्यक्ति एक प्रोफेशनल फंड मैनेजर होता है।

म्यूचुअल फंड कम निवेश वाले फंड के साथ किसी भी या कई परिसंपत्ति वर्गों में विभिन्न प्रकार के निवेश की पेशकश करते हैं। उदाहरण के लिए, आप प्योर इक्विटी फंड, डेट फंड या हाइब्रिड फंड में निवेश कर सकते हैं और स्टॉक और बॉन्ड दोनों में निवेश कर सकते हैं।

म्यूचुअल फंड विभिन्न जोखिम श्रेणियों के फंड पेश कर सकते हैं यह इस पर निर्भर करता है की वे किस प्रकार क�� स्टॉक या बॉन्ड में निवेश कर रहे हैं| इंडेक्स फंड को इक्विटी फंडों में सबसे सुरक्षित फंड श्रेणी माना जाता है, जबकि डेट कैटेगरी में सबसे सुरक्षित गिल्ट फंड हैं।

Investment-image

मध्यम जोखिम वाला निवेश (मीडियम रिस्क इन्वेस्टमेंट)

जैसा की नाम से ही पता चलता है, मध्यम या सीमित जोखिम (मीडियम या मोडरेट) रिस्क निवेश में ऐसी निवेश योजनाएं शामिल हैं जो विविधतापूर्ण या संतुलित निवेश के रूप में कार्य करती हैं। मध्यम जोखिम प्रोफाइल वाली निवेश योजनाएं न केवल विकास की क्षमता प्रदान करती हैं बल्कि बाजार में उतार-चढ़ाव के एक निश्चित स्तर को स्वीकार करने की इच्छा भी प्रदान करती हैं। अधिकांश मध्यम जोखिम वाली निवेश योजनाएं इक्विटी और डेट इंस्ट्रूमेंट्स के संयोजन के माध्यम से आपके निवेश पोर्टफोलियो में विविधता लाने में मदद करती हैं जो बिना किसी बड़े जोखिम के स्थिर रिटर्न देते हैं। मध्यम जोखिम (मीडियम रिस्क) वाली निवेश योजनाओं के उदाहरणों में शामिल हैं:

1. हाइब्रिड डेट-ओरिएंटेड फंड

2. आर्बिट्रेज फंड

3. मंथली इनकम प्लान

What are the Types of Term Insurance Plans?

FinancialNeedsInIndia

मैक्स लाइफ फ़ास्ट ट्रैक सुपर

मैक्स लाइफ फ़ास्ट ट्रैक सुपर प्लान

यूनिट लिंक्ड नॉन-पार्टिसिपेटिंग पर्सनल लाइफ इंश्योरेंस प्लान, (यूआईएन: 104L082V04) एक बीमा + निवेश योजना है जो विभिन्न बाजार से जुड़े फंड विकल्पों में निवेश करने के लिए एक सुरक्षित और सरल दृष्टिकोण के साथ एक जीवन बीमा विकल्प प्रदान करती है।

मैक्स लाइफ़ ऑनलाइन सेविंग्स प्लान

मैक्स लाइफ़ ऑनलाइन सेविंग्स प्लान

(एक यूनिट लिंक्ड नॉन-पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल लाइफ इंश्योरेंस प्लान, UIN: 104L098V03) एक ऑनलाइन निवेश विकल्प है जीवन की अनिश्चितताओं से आपको और आपके प्रियजनों की रक्षा करते हुए एवं आपके लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए एकमुश्त भुगतान का दोहरा लाभ प्रदान करता है। यह निवेश और बीमा योजना आपको पॉलिसी अवधि और विभिन्न फंड विकल्पों को चुनने की सुविधा देती है ताकि आप अपनी निवेश शैली के अनुकूल एक वित्तीय पोर्टफोलियो बना सकें।

मैक्स लाइफ सेविंग एडवांटेज प्लान

मैक्स लाइफ सेविंग एडवांटेज प्लान

भारत में (नॉन-लिंक्ड पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल लाइफ इंश्योरेंस सेविंग प्लान, UIN: 104N111V02) एक बीमा और निवेश योजना है जो किसी अप्रिय घटना के मामले में जीवन बीमा सुरक्षा प्रदान करते हुए आपके परिवार के सदस्यों की देखभाल करने के लिए आपके बचत को व्यवस्थित रूप से बढ़ाने में आपकी सहायता करेगा|

मैक्स लाइफ़ एश्योर्ड वेल्थ प्लान

मैक्स लाइफ़ एश्योर्ड वेल्थ प्लान

(एक नॉन-लिंक्ड, नॉन- पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल लाइफ इंश्योरेंस सेविंग प्लान, UIN: 104N096V04) एक ऐसी ऑनलाइन निवेश और बीमा योजना है जो आपको धन निर्मिती, आपके बच्चे की शिक्षा और आपकी सेवानिवृत्ति जैसे लक्ष्यों को पूरा करने में मदद कर सकती है। यह बीमा और निवेश योजना अनिश्चित और अस्थिर वातावरण में आपके प्रियजनों को वित्तीय सुरक्षा की भावना प्रदान करने में मदद करती है।

मैक्स लाइफ फ्यूचर जीनियस एजुकेशन प्लान

मैक्स लाइफ फ्यूचर जीनियस एजुकेशन प्लान

(एक नॉन-लिंक्ड पार्टिसिपेटिंग इंडिविजुअल लाइफ इंश्योरेंस सेविंग्स प्लान, UIN: 104N094V03) एक बीमा और निवेश योजना है जिसे युवा माता-पिता को तरीकेबद्ध बचत के माध्यम से अपने बच्चे की शिक्षा लागत का प्रबंधन करने में मदद करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। एक निवेश योजना आपको अपने बच्चे की शिक्षा आवश्यकताओं के अनुसार प्रीमियम भुगतान अवधि, पॉलिसी अवधि और मनी-बैक चुनने की सुविधा प्रदान करती है।

मैक्स लाइफ शिक्षा प्लस सुपर प्लान

मैक्स लाइफ शिक्षा प्लस सुपर प्लान

(एक यूनिट-लिंक्ड नॉन-पार्टिसिपेटिंग पर्सनल लाइफ इंश्योरेंस प्लान, UIN: 104L084V04) भारत में बीमा और निवेश के द्वारा ही आप अपने बच्चों की भविष्य की शैक्षिक जरूरतों को आर्थिक रूप से सुरक्षित करने में मदद कर सकते है|

मैक्स लाइफ फॉरएवर यंग पेंशन प्लान

मैक्स लाइफ फॉरएवर यंग पेंशन प्लान

(एक यूनिट-लिंक्ड गैर-भाग लेने वाली व्यक्तिगत पेंशन योजना, UIN:- 104L075V03) यदि आप इक्विटी बाजार की अस्थिरता का सामना किए बिना अपने सेवानिवृत्ति के वर्षों के लिए बचत करना चाहते हैं तो बीमा + निवेश आपके लिए एक बढ़िया विकल्प हो सकता है।

मैक्स लाइफ परफेक्ट पार्टनर सुपर

मैक्स लाइफ परफेक्ट पार्टनर सुपर

(एक नॉन-लिंक पार्टिसिपेटिंग पर्सनल लाइफ इंश्योरेंस सेविंग्स प्लान, UIN: 104N077 V03) यह आपके जीवनसाथी के 75 वर्ष की आयु तक की वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए जीवन बीमा एक विकल्प है। यह बीमा और निवेश योजना मैच्युरिटी (बोनस के माध्यम से) पर 212.5% गारंटीकृत सम एश्युर्ड भी प्रदान करती है ताकि आप सेवानिवृत्ति के बाद पूरी तरह से जीवन का आनंद ले सकें।

मैक्स लाइफ होल लाइफ सुपर प्लान

मैक्स लाइफ होल लाइफ सुपर प्लान

(एक नॉन-लिंक्ड पार्टिसिपेटिंग पर्सनल लाइफ इंश्योरेंस सेविंग प्लान। UIN - 104N080V04) यह एक बीमा और निवेश / बचत योजना है, जो आपके परिवार के लिए एक व्यापक जीवन बीमा कवर करते हुए आपको व्यवस्थित रूप से धन बनाने में मदद करता है।

आपको किसी निवेश योजना में कब निवेश करना शुरू करना चाहिए?

when-start-investing-wrapper-img

हम में से प्रत्येक के पास लक्ष्य का एक सेट होता है जिसे हम अपने जीवन में प्राप्त करने का प्रयास करते हैं। हालाँकि, आजकल आप केवल अपनी बचत पर निर्भर नहीं रह सकते। केवल निवेश योजनाओं के माध्यम से ही एक मजबूत वित्तीय पोर्टफोलियो बनाकर हम इन लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं।

घर खरीदने या सेवानिवृत्ति के बाद आर्थिक रूप से सुरक्षितता हासिल करने के लिए सबसे अच्छी निवेश योजना को पहचानें, जो समय के साथ आपके पैसे को बढ़ाने में आपकी मदद करेगी। इसलिए, उच्च रिटर्न के साथ किसी भी बेहतरीन निवेश योजना में निवेश शुरू करने से पहले याद रखें, आपको लक्ष्य और हासिल करने के लिए एक अस्थायी समयरेखा की आवश्यकता है। याद रखें, जब आपका लक्ष्य प्राप्त हो जाता है, तो आपको जल्द से जल्द निवेश करना शुरू करना होगा - ऐसा करने से आपको प्रक्रिया सरल होने में मदद मिलेगी।

आपको निवेश क्यों करना चाहिए?

why-buy-img

यदि आप एक वेतनभोगी या स्वरोजगार वाले व्यक्ति हैं, तो आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि आप केवल अपनी बचत से अपने लक्ष्यों को प्राप्त नहीं कर सकते हैं - आपको अपनी बचत को अधिकतम करने और निवेश योजनाओं के माध्यम से धन बनाने की भी आवश्यकता है। धन का निर्माण करने के लिए, आपको अपने पैसे को उच्च रिटर्न वाले कुछ बेहतरीन निवेश विकल्पों में निवेश करना चाहिए।

यदि आप निवेश नहीं करते हैं, तो आप अपने वित्तीय मूल्य और धन-निर्माण क्षमता को बढ़ाने के अवसरों को खो सकते हैं। जब आप निवेश योजनाओं के माध्यम से पैसा खोने का जोखिम उठाते हैं, तो आपके पास एक महत्वपूर्ण लाभ कमाने की क्षमता हो��ी है - यदि आप समझदारी और समय पर निवेश करते हैं।

अपने लिए इन्वेस्टमेंट प्लान कैसे चुनें?

how-to-choose

यहां बताया गया है कि आप भारत में निवेश के सर्वोत्तम विकल्पों में से सही निवेश योजना कैसे चुन सकते हैं:

  • अपनी वित्तीय जरूरतों और लक्ष्यों का आकलन करें|
  • प्रत्येक लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अपने निवेश की समय-सीमा की गणना करें|
  • ऐसी पॉलिसी बनाएं जिसमें उपयुक्त बीमा + निवेश पॉलिसी शामिल हों जो आपके लक्ष्यों के अनुरूप हों|
  • अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाएं - हो सकता है कि आपने अपना पैसा एक ही निवेश योजना में निवेश किया हो, लेकिन कई निवेश और बीमा योजनाओं के लिए जाएं।
  • विभिन्न निवेश योजनाओं पर लगने वाले विभिन्न शुल्क के बारे में जानें
  • अपनी निवेश योजनाओं की समय-समय पर समीक्षा करें

निवेश योजना खरीदने के लिए आवश्यक दस्तावेज

निवेश योजना खरीदने के लिए आवश्यक दस्तावेज

भारत में बीमा + निवेश योजना खरीदने के लिए, आपको केवाईसी सत्यापन के सबूत के रूप में निम्नलिखित दस्तावेज जमा करने होंगे:

1) आय का प्रमाण

2) पते का प्रमाण

3) पहचान का प्रमाण

4) आयु का प्रमाण

1. आधिकारिक रूप से वैध दस्तावेज (इनमें से कोई भी)

पासपोर्ट

मतदाता पहचान पत्र

नरेगा द्वारा जारी जॉब कार्ड, राज्य सरकार के एक अधिकारी द्वारा विधिवत हस्ताक्षरित

आधार कार्ड

राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर जिसमें नाम, पता और आधार संख्या का विवरण शामिल है

या कोई अन्य दस्तावेज जैसा कि केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचित किया गया है

2. आधिकारिक रूप से मान्य दस्तावेज़ों के अतिरिक्त

पैन कार्ड/फॉर्म 60

3. मामले में आधिकारिक तौर पर मान्य दस्तावेजों में अपडेटेड पता नहीं हो तो

किसी भी सेवा प्रदाता (बिजली, टेलीफोन, पोस्टपेड मोबाइल कनेक्शन, पाइप गैस, पानी) का उपयोगिता बिल (दो महीने से ज्यादा पुराना नहीं)

संपत्ति या नगरपालिका कर रसीद (म्यूनिसिपल टैक्स रिसिप्ट)

सेवानिवृत्त लोगों को जारी किए गए पेंशन या फॅमिली पेंशन पेमेंट ऑर्डर (पीपीओ)

सरकारी विभाग या सार्वजनिक उपक्रमों के कर्मचारी, यदि उनमें पता हो तो

राज्य या केंद्र सरकार के विभागों, वैधानिक या नियामक निकायों, सार्वजनिक उपक्रमों, अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों, वित्तीय संस्थानों और सूचीबद्ध कंपनियों द्वारा जारी नियोक्ता से निवास आवंटन पत्र

5) आय प्रमाण

वेतनभोगी व्यक्तियों के लिए (कोई भी एक)

नवीनतम 3 महीनों के लिए वेतन क्रेडिट दिखाने वाला बैंक विवरण

नवीनतम 2 साल का आयकर रिटर्न

नवीनतम वर्ष फॉर्म 16

स्वरोजगार के लिए (कोई भी एक)

कंप्यूटेशन ऑफ़ इनकम के साथ नवीनतम 2 वर्ष का आयकर रिटर्न जो उसी वर्ष फाइल नहीं किया गया हो

कंप्यूटेशन ऑफ़ इनकम उपलब्ध नहीं हो तो: पिछले 3 वर्षों का आयकर रिटर्न जो उसी वर्ष में फाइल नहीं किया गया हो

नवीनतम 2 वर्षों की सीए प्रमाणित ऑडिटेड बैलेंस शीट और प्रॉफिट एंड लॉस अकाउंट

फॉर्म 26AS

निवेश योजना संबंधी अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

search

निम्नलिखित निवेश विकल्पों को भारत में सबसे अच्छी निवेश योजनाओं में से एक माना जा सकता है:

  1. यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान (यूलिप)
  2. मंथली इनकम प्लान
  3. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ)
  4. म्यूचुअल फंड्स
  5. सुकन्या समृद्धि खाता
  6. सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (एससीएसएस)
  7. टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपॉजिट

इक्विटी और लार्ज कैप म्यूचुअल फंड भारत में संभावित रूप से उच्च रिटर्न वाली निवेश योजनाएं हैं। तथापि,, इन निवेश योजनाओं में निवेश करने से पहले, आपको अपने वित्तीय सलाहकार से सलाह लेनी चाहिए और अपने निवेश पोर्टफोलियो को निवेश और प्रबंधित करने के लिए उनकी मदद लेनी चाहिए।

यूलिप सहित कई निवेश योजनाएं आपको अपनी पसंद के स्वचालित निवेश के लिए जाने की अनुमति देती हैं। यूलिप में, यह एक फंड से दूसरे फंड में फंड के स्वचालित हस्तांतरण की मदद से होता है, अन्य निवेश योजनाएं स्वचालित रूप से आपके निवेश खाते में आपका पैसा आवंटित करती हैं और सुनिश्चित करें कि आपका पैसा आपके बैंक बचत खाते में जमा नहीं किया गया है, लेकिन यह पहले से ही जमा कार्य के लिए अलग रखा गया है। स्वचालित निवेश ऐच्छिक लागत को कम करने में मदद करता है और हमें अपने वित्तीय लक्ष्यों को तेजी से प्राप्त करने में सक्षम बनाता है।

आप अपनी निवेश योजना से आंशिक रूप से / व्यवस्थित रूप से पैसे निकालने का विकल्प चुन सकते हैं। यहां, आप एक निश्चित राशि को एक निश्चित दोहराव के बाद रीडिम कर सकते हैं। आप अपनी आवश्यकता के आधार पर रिडीम्पशन अनुरोध करके एकमुश्त राशि निकालने का विकल्प भी चुन सकते हैं। अधिकांश निवेश योजनाओं में न्यूनतम निकासी राशि होती है और कुछ में उनके संबंधित प्रकटीकरण दस्तावेजों में निर्दिष्ट न्यूनतम तालाबंदी अवधि होती है।

आप अपनी निवेश योजनाओं से व्यवस्थित रूप से पैसा निकालना चुन सकते हैं। अधिकांश निवेश योजनाओं में उनके संबंधित प्रकटीकरण दस्तावेजों में निर्दिष्ट न्यूनतम निकासी राशि है। इस प्रकार, आप अपने निवेश से एक पूर्व-निर्धारित आवृत्ति पर एक निश्चित राशि को रीडिम कर सकते हैं|

सभी निवेश योजनाओं और आय निधियों का प्राथमिक उद्देश्य आपको (एक निवेशक के रूप में) एक नियमित और स्थिर आय या पॉलिसी अवधि के अंत में एकमुश्त राशि प्रदान करना है। यूलिप और कुछ अन्य निवेश विकल्पों में, कई प्रकार के फंड होते हैं जिन्हें एक बार पैसा निवेश करने के मामले में चुना जा सकता है। हालांकि, जोखिम चुने गए फंड की प्रकृति और बाजार की स्थितियों पर निर्भर करता है।

विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि सोना आपके विविध निवेश पोर्टफोलियो का एक अनिवार्य हिस्सा होना चाहिए, क्योंकि सोने की कीमत बढ़ती है, जो प्रतिभूतियों और शेयरों जैसे कागजी निवेशों के मूल्य को कम करती है। सोने की कीमतों में कभी-कभी अल्पावधि में उतार-चढ़ाव हो सकता है, लेकिन सोने ने हमेशा लंबी अवधि के लिए अपना मूल्यांकन बनाए रखा है।

अपने शुरुआती 20 में निवेश शुरू करने का तरीका यहां दिया गया है:

  1. इमरजेंसी फंड बनाना शुरू करें
  2. अपने निवेश के लक्ष्य तय करें
  3. पीपीएफ (पब्लिक प्रोविडेंट फंड) अकाउंट या एनपीएस (नेशनल पेंशन स्कीम) में योगदान करें।
  4. अपनी सेवानिवृत्ति के लिए बचत करना शुरू करें
  5. अल्पकालिक बचत को आसान रखें
  6. अपनी बचत के एक हिस्से को लंबी अवधि के निवेश अवसरों में निवेश करें

यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान (ULIP) को भारत में निवेश योजनाओं में से एक माना जाता है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि ये प्लान प्लान को सरेंडर किए बिना आपके पैसे को हाई रिस्क से लो रिस्क फंड में ट्रांसफर करने की पूरी फ्लेक्सिबिलिटी प्रदान करते हैं। इसके अलावा, यूलिप प्लान जीवन बीमा और महत्वपूर्ण निवेश रिटर्न दोनों प्रदान करते हैं। इसके अलावा, यूलिप, भुगतान किए गए प्रीमियम और बीमा आय दोनों पर क्रमशः धारा 80C और 10(10D), के तहत व्यापक कर-बचत लाभ प्रदान करते हैं। यूलिप योजना के तहत, भुगतान किए गए प्रीमियम का एक हिस्सा बाजार से जुड़ी इक्विटी और डेट इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश किया जाता है, जबकि बाकी बीमा कवर के लिए जारी किया जाता है।

भारत में निवेश की विभिन्न श्रेणियां इस प्रकार हैं:

  1. इक्विटी इन्वेस्टमेंट (निवेश)
  2. फिक्स्ड इनकम या डेट इन्वेस्टमेंट
  3. प्रत्यक्ष निवेश साधन (जैसे बॉन्ड और स्टॉक)
  4. अप्रत्यक्ष निवेश साधन (जैसे म्यूचुअल फंड और ईएलएसएस)

निवेश के विभिन्न तरीके या परिसंपत्ति वर्ग इस प्रकार हैं:

  1. इक्विटी स्टॉक्स
  2. डेट या फिक्स्ड इनकम सिक्योरिटीज
  3. बैलेंस्ड फंड - इक्विटी और डेट सिक्योरिटीज का लचीला मिश्रण

  4. लिक्विड फंड

फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) एक प्रकार का बैंक बचत/निवेश खाता है, जो एक निवेशक के रूप में आपको निश्चित ब्याज दर देने का वादा करता है। उसके बदले में, आप सहमती दर्शाते हैं कि आप एक विशिष्ट अवधि के लिए अपने निवेश किए गए फंड को एक्सेस नहीं करेंगे या वापस नहीं लेंगे। एफडी निवेश के लिए, ब्याज केवल निवेश अवधि के अंत में देय है। इसके अलावा, चूंकि निवेश की अवधि और ब्याज की दर निश्चित होती है| आप फिक्स्ड डिपॉजिट निवेश अवधि समाप्त होने के बाद आप जल्दी से ब्याज का निर्धारण कर सकते हैं।

प्र��विडेंट फंड एक अनिवार्य, सरकार द्वारा प्रबंधित सेवानिवृत्ति बचत योजना है। प्रोविडेंट फंड के अंतर्गत, कर्मचारी अपनी बचत का एक हिस्सा हर महीने अपने पेंशन फंड में योगदान करने के लिए सहमत होते हैं। समय के साथ, जमा की गई राशि आप अपनी नौकरी के अंत में या सेवानिवृत्ति के समय एकमुश्त राशि के रूप में निकाल सकते हैं। आपके भविष्य निधि बचत की राशि सेवानिवृत्ति के बाद पर्याप्त आय का स्रोत है।

अपनी सैलरी से पैसे बचाने के लिए यहां कुछ टिप्स दिए गए हैं:

  1. तुरंत बचत शुरू करने के लिए बजट बनाएं
  2. अपने वित्तीय लक्ष्य तय करें
  3. धारा 80C के अंतर्गत टैक्स बचत4 को अधिकतम करें
  4. सही बीमा (जैसे जीवन बीमा, हेल्थ इंश्योरेंस और क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस) का विकल्प चुनें।
  5. आपातकालीन निधि (इमरजेंसी फंड) बनाएँ

जब आप फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट में निवेश करते हैं, तो आपके पास निवेश की अवधि (या "टर्म") चुनने की सुविधा होती है। जब आप कोई टर्म चुनते हैं, तो आप अपने पैसे को पूरी अवधि के लिए (आपके एफडी अकाउंट में) रखने का वादा करते हैं और ऊपर बताई गई अवधि के दौरान इसे निकालने से बचते हैं। अपने फिक्स्ड डिपॉजिट निवेश से अधिकतम रिटर्न प्राप्त करने के लिए, अपनी बचत को अधिकतम संभव कार्यकाल के लिए निवेश करना ही समझदारी होगी| (एफडी की शर्तें आमतौर पर एक महीने से लेकर पांच साल तक होती हैं।)

यदि आप 55 वर्ष की ���यु में सेवानिवृत्त होने की योजना बनाते हैं, तो आपको अपनी वार्षिक आय का कम से कम 15 से 20 गुना बचत करनी होगी। उदा- अगर आपकी सालाना आय 10 लाख रुपये है, तो आपकी बचत और निवेश 1.5 से 2 करोड़ रुपये के आसपास होना चाहिए।

जो लोग 5 साल में अपना पैसा दोगुना करना चाहते हैं, वे भारत में निम्नलिखित निवेश योजनाओं पर विचार कर सकते हैं:

  • राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र
  • फिक्स्ड डिपॉजिट
  • पब्लिक प्रोविडेंट फंड
  • स्टॉक मार्केट
  • टैक्स-फ्री बॉन्ड
  • गोल्ड ईटीएफ
  • म्यूचुअल फंड्स
  • अपरिवर्तनीय डिबेंचर्स

भारत में प्रत्येक निवेश योजना में कुछ जोखिम होता है, विशेष रूप से ऐसे मामलों में जहां रिटर्न्स पूरी तरह से बाजार के उतार-चढ़ाव पर निर्भर करता है। हालांकि, बचत खाते, सावधि जमा (एफडी) , सार्वजनिक भविष्य निधि (पीपीएफ) , आवर्ती जमा (आरडी), डाकघर योजनाएं और गैर-इक्विटी म्यूचुअल फंड भारत में कुछ कम जोखिम और कुछ बेहतरीन निवेश योजनाएं हैं।

व्यवस्थित निवेश योजनाएं, जिन्हें एसआईपी के रूप में भी जाना जाता है, उन सर्वोत्तम निवेश योजनाओं में से एक है जिन पर आप विचार कर सकते हैं। एसआईपी आपको नियमित अंतराल पर म्यूचुअल फंड में एक छोटी राशि का निवेश करने की अनुमति देता है, जो आपको भविष्य के लिए वित्तीय फंड बनाने में मदद करता है।

यहां लघु अवधि के लिए कुछ बेहतरीन निवेश योजनाओं के कुछ उदाहरण दिए गए हैं:

  • बचत खाता
  • लिक्विड फंड
  • आवर्ती जमा (आरडी)
  • राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र
  • सावधि जमा फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी)
  • मनी मार्केट फंड

यहां भारत में दीर्घकालिक निवेश योजना के कुछ उदाहरण दिए गए हैं:

  • राष्ट्रीय पेंशन योजना
  • यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान
  • फिक्स्ड डिपॉजिट
  • इक्विटी फंड्स
  • म्यूचुअल फंड्स
  • स्टॉक्स
  • बांड्स
  • पोस्ट ऑफिस बचत योजना

औसत व्यक्ति को अपनी वार्षिक आय का कम से कम 15 से 20 गुना बचत करने की आवश्यकता होती है ताकि वे घरेलू और आपातकालीन दोनों खर्चों को कुशलता से प्रबंधित कर सकें।

18 वर्ष से अधिक आयु का कोई भी व्यक्ति भारत में बचत योजना में निवेश कर सकता है। आप जितनी जल्दी निवेश करना शुरू करें उतना ही बेहतर है क्योंकि आप समय के साथ बड़ी मात्रा में जमा कर सकते हैं और उच्च रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं।

भारत में कुछ निवेश योजनाएं आंशिक निकासी के विकल्प के साथ आती हैं, जिसका अर्थ है कि पॉलिसीहोल्डर योजना अवधि के दौरान फंड की आंशिक निकासी कर सकता है।

आज, किसी निवेश योजना के लिए प्रीमियम का भुगतान करना बहुत ही आसान है, आपको इंश्योरेंस कंपनी की वेबसाइट पर जाकर प्रीमियम का भुगतान ऑनलाइन करना होगा । यदि आप प्रीमियम का भुगतान नकद या चेक से करना चाहते हैं, तो आप इंश्योरेंस कंपनी के कार्यालय या निकटतम शाखा में जा सकते हैं।

ARN-PCP/INVH/260722

1उदाहरण में दिखाए गए रिटर्न की अनुमानित दर (4% प्रति वर्ष और 8% प्रति वर्ष) की गारंटी नहीं है और वे आपको वापस मिलने वाली ऊपरी या निचली सीमा नहीं हैं | आपकी पॉलिसी का मूल्य कई कारकों पर निर्भर करता है जिनमें शामिल हैं निवेश के रिटर्न | दिखाई गई राशि 30 वर्षीय स्वस्थ पुरुष के लिए है, 15 वर्ष की प्रीमियम भुगतान अवधि, 30 वर्ष की पॉलिसी अवधि के साथ Max Life Online Savings Plan (Unit Linked Non Participating Individual Life Insurance Plan | Life Insurance is available in this product).

Sources:

www.nsiindia.gov.in/InternalPage.aspx?Id_Pk=89

www.nsiindia.gov.in/InternalPage.aspx?Id_Pk=55

www.indiapost.gov.in/Financial/pages/content/post-office-saving-schemes.aspx

www.nsiindia.gov.in/InternalPage.aspx?Id_Pk=134

www.incometaxindia.gov.in/Pages/tools/deduction-under-section-80c.aspx

www.rbi.org.in/Scripts/NotificationUser.aspx?Id=11865&Mode=0

www.rbi.org.in/Scripts/FAQView.aspx?Id=79

Max Life Insurance की ओर से ऑफ़र किए गए इन्वेस्टमेंट प्लान

  • चाइल्ड प्लान

    पॉलिसी अवधि के दौरान, माता-पिता की मृत्यु होने पर ट्रिपल सुरक्षा एकमुश्त भुगतान, मासिक आय और परिपक्वता (मैच्योरिटी) पर अपेक्षित निधि मूल्य (फ़ंड वैल्यू) के साथ पॉलिसी जारी रखना

    कोई पॉलिसी प्रबंधन और प्रीमियम आवंटन शुल्क नहीं

    5 साल से 30 साल तक की पॉलिसी अवधि चुनने की सुविधा

    रिस्क प्रोफ़ाइल के आधार पर इन्वेस्टमेंट फ़ंड (निवेश निधि) चुनने की सुविधा

    और जानें
  • वेल्थ प्लान

    कोई पॉलिसी प्रबंधन और प्रीमियम आवंटन शुल्क नहीं

    पॉलिसी अवधि के दौरान, आपको मिलती है अपने पैसे को जितनी बार चाहें स्विच करने की सुविधा

    5 वर्ष से 30 वर्ष तक पॉलिसी अवधि चुनने की सुविधा

    रिस्क प्रोफ़ाइल के आधार पर इन्वेस्टमेंट फ़ंड (निवेश निधि) चुनने की सुविध

    और जानें
  • Max Life स्मार्ट वेल्थ इनकम प्लान

    संपूर्ण जीवन* विकल्प सहित आपको अपनी इनकम के स्रोत बनाने का तीन प्लान विकल्

    गारंटीड-इनकम और कैश बोनस**, दोनों प्रारंभिक आय के तहत दूसरे वर्ष से शुरू होते है

    उत्तरजीविता लाभ (सर्वाइवल बेनिफ़िट) अर्जित करने और अपनी पसंद के अनुसार निकासी करने का विकल्प

    रिस्क प्रोफ़ाइल के आधार पर इन्वेस्टमेंट फ़ंड (निवेश निधि) चुनने की सुविध

    और जानें
  • Max Life कैपिटल गारंटी सॉल्यूशन

    मार्केट की स्थितियों की परवाह किए बिना 100% मनी सेफ़्टी (धन सुरक्षा)

    मार्केट से जुड़े रिटर्न के ज़रिए धन सृजन

    टैक्स बेनिफ़िट्स (कर लाभ)

    और जानें

Customer Reviews

Smart Wealth Plan

“I have taken Monthly Income advantage plan , ULIP Fast track Super plan and Smart Wealth plan from max life insurance company ....from which my family is safe and Secure..”

Manisha Deep Andola

Saving Advantage Plan

“I have invested in Max life cancer plan and Max life savings advantage plan. Both these plans are keeping me secured from illness and financial security”

Archana

Share your Valuable Feedback
Rating Icon

4.1

Rated by 13622 customers

Was the Information Helpful?

Very Good

StickyImage
गारंटीड*#रिटर्न के लिए
टैक्स लाभ4
जीवन भर वित्तीय सुरक्षा
Online Sales Helpline
  • 0124 648 8900(09:00 AM to 09:00 PM Monday to Saturday)
  • service.helpdesk@maxlifeinsurance.comEmail
  • SMS ‘LIFE’ to 5616188Message
  • Let us call you back
Customer Service
  • 1860 120 5577(9:00 AM to 6:00 PM Monday to Saturday)
  • Chat with us
  • Write to usPlease write to us incase of any escalation/feedback/queries.
NRI Helpdesk
  • 011-71025900, 011-61329950(9:00 AM to 6:00 PM Monday to Saturday)
  • nri.helpdesk@maxlifeinsurance.comPlease write to us incase of any escalation/feedback/queries.