लाइफ़ इश्योरेंस प्लान

लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान (जीवन बीमा योजना) आपकी अप्रत्याशित मृत्यु के मामले में आपके प्रियजनों की वित्तीय जरूरतों का ख्याल रखती है। लाइफ़ इंश्योरेंस से प्राप्त बेनिफ़िट (लाभ) क़र्ज़ चुकाने, खर्चों को पूरा करने और जीवन के लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं। हालांकि, लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान खरीदने से पहले, सही कवरेज अमाउंट (राशि) चुनने के लिए अपनी वित्तीय जरूरतों का विश्लेषण करना सुनिश्चित करें...Read More

अपने भविष्य को सुरक्षित करे, आज ही बीमा करवाएं

  • tick3 आसान चरणों में सुरक्षित हो जाएं
  • tick99.34% क्लेम पेड रेश्यो^

लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी क्या है?

लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी, इंश्योरेंस की सेवा उपलब्ध कराने वाली कंपनी और इंश्योरेंस लेने वाले व्यक्ति के बीच कॉन्ट्रैक्ट (अनुबंध) को संदर्भित करती है, [1]। एग्रीमेंट के अनुसार, पॉलिसीधारक पॉलिसी प्रीमियम के रूप में एक निश्चित राशि का भुगतान करते हैं जबकि इंश्योरेंस देने वाली कंपनी पॉलिसीधारक की असामयिक मृत्यु होने पर उनके परिवार को एक विशिष्ट राशि का भुगतान करती है।

चूंकि किसी को भी उसके जीवन का नहीं पता कि वह कबतक जीवित रहेगा, इसलिए बेहतरीन लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना महत्वपूर्ण है जो आपकी वित्तीय आवश्यकताओं के अनुरूप हो।

what-life-insurance-video-thubnail.png

लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान क्यों चुनें?

लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी आपको अपने परिवार के वित्तीय हितों की रक्षा करने में मदद करती है जब आप इस दुनिया में नहीं होते हैं। लाखों लोग लाइफ़ इंश्योरेंस (जीवन बीमा) इन्हीं कारणों से खरीदते हैं जिन्हें शब्दों में बयां करना अक्सर मुश्किल होता है। यह निम्नलिखित बेनिफ़िट की वजह से एक अच्छी फ़ाइनेंशियल प्लान (वित्तीय योजना) का एक महत्वपूर्ण घटक है:

1. परिवार के लिए वित्तीय सुरक्षा

लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी आपके असामयिक मृत्यु के समय आपके परिवार (चुने हुए नामित व्यक्ति) को एक निर्दिष्ट राशि प्रदान करेगी। वे अलग-अलग वित्तीय ज़रूरतों को पूरा करने के लिए सम अश्योर्ड (बीमित राशि) का इस्तेमाल कर सकते हैं।

2. क्रिटिकल इलनेस बेनिफ़िट

आप लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ क्रिटिकल इलनेस राइडर का विकल्प चुन सकते हैं, जो स्वास्थ्य संबंधी गंभीर बीमारियों, जैसे कि कैंसर, किडनी की खराबी और हार्ट अटैक (दिल का दौरा) संबंधी समस्याओं से सुरक्षा प्रदान करती है। इस तरह, आपको या आपके परिवार को मेडिकल इमर्जेंसी (चिकित्सा आपात स्थिति) के वित्तीय पक्ष को लेकर चिंता करने की आवश्यकता नहीं है।
...Read More

लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी कौन खरीद सकता है?

कोई भी व्यक्ति, चाहे पुरुष हो या महिला, 18-65 वर्ष के उम्र वर्ग में आते हैं, वे लाइफ़ इंश्योरेंस के नियमों और शर्तों के अनुसार भारत में लाइफ़ इंश्योरेंस (जीवन बीमा) खरीद सकते हैं।

उम्र वर्गकिसी खास उम्र में लाइफ़ इंश्योरेंस खरीदने का महत्व
20-30कम प्रीमियम पर महत्वपूर्ण ��वरेज जो अन्य वित्तीय ज़रूरतों के साथ-साथ एडुकेजशन लोन (शिक्षा ऋण) को चुकाने में मदद करेगा
30-40चुने गए लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान के अनुसार पूरे परिवार के लिए फ़ाइनेंशियल प्रोटेक्शन (वित्तीय सुरक्षा) और रेग्युलर मंथली इनकम (नियमित मासिक आय)
40-50बच्चे की उच्च शिक्षा और सेवानिवृत्ति योजना बनाने के लिए धन सृजन का अवसर
50 और इससे ऊपरऔर उससे अधिक अन्य बेनिफ़िट्स के साथ परिवार के लिए भारी वित्तीय ऋण, यदि कोई हो, को चुकाने में आसानी

लाइफ़ इंश्योरेंस खरीदने के कुछ अन्य संबंधित पहलू यहां दिए गए हैं जिन्हें आपको अवश्य जानना चाहिए

  • धूम्रपान न करने वालों की तरह, धूम्रपान करने वाले भी लाइफ़ इंश्योरेंस का लाभ उठा सकते हैं, हालांकि प्रीमियम की दर अलग हो सकती है। साथ ही, उन्हें लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते समय इंश्योरेंस करने वाली कंपनी को अपनी धूम्रपान की आदत के बारे में सूचित करना होगा।
  • विकलांग व्यक्ति भी बेहतरीन लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीद सकते हैं यदि वे यह साबित कर सकें कि वे अपने परिवार के सदस्यों के लिए इसे खरीद रहे हैं। उन्हें शामिल जोखिम के स्तर के आधार पर पॉलिसी प्रीमियम निर्धारित करने के लिए मेडिकल टेस्ट (चिकित्सा जांच) से भी गुजरना होगा।
  • प्री-एग्ज़िस्टिंग मेडिकल कंडीशन्स (पहले से मौजूद चिकित्सीय स्थितियों) से पीड़ित लोग लाइफ़ इंश्योरेंस खरीद सकते हैं। उन्हें इंश्योरेंस कंपनी को पहले से मौजूद स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में सूचित करना होगा, यदि कोई हो। पॉलिसी खरीदते समय इसका खुलासा करने में विफल रहने पर बाद में क्लेम खारिज किया जा सकता है।
  • Max Life इंश्योरेंस में, हम पहले से बीमारियों से पीड़ित व्यक्तियों को लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी प्रदान करते हैं।

    लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी महत्वपूर्ण शर्तें[4]

    must_know_life_insurance_policy_desktop.jpg

    1. पॉलिसी क्या है?

    इंश्योरेंस पॉलिसी मूल रूप से आपकी इंश्योरेंस कंपनी, यानी इंश्योरर (बीमाकर्ता) और इंश्योर्ड (बीमित व्यक्ति) के बीच एक लीगल कॉन्टैक्ट (कानूनी अनुबंध) है। यह स्पष्ट रूप से परिभाषित करता है कि इंश्योरर (बीमाकर्ता) और इंश्योर्ड (बीमित व्यक्ति) दोनों के लिए निर्धारित विभिन्न दायित्वों के साथ इंश्योरेंस कंपनी किस प्रकार के क्लेम का भुगतान करने के लिए सहमत है।

    2. सम अश्योर्ड (बीमा राशि) क्या है?

    यह इंश्योर्ड (बीमित व्यक्ति) की दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु की स्थिति के बाद नॉमिनी (नामित व्यक्ति) को देय राशि को संदर्भित करता है, जैसा कि चुनी गई लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी में निर्दिष्ट है। आप खास सम अश्योर्ड (बीमा राशि) के लिए देय प्रीमियम का अनुमान प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन लाइफ़ इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेटर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

    3. सालाना प्रीमियम क्या है?

    सालाना प्रीमियम अनिवार्य रूप से पॉलिसी शेड्यूल में निर्दिष्ट अमाउंट (राशि) है, और आपके द्वारा चुने गए पॉलिसी वर्ष के दौरान देय प्रीमियम के रूप में दर्शाया जाता है (पॉलिसीधारक के रूप में), अंडरराइटिंग के लिए पेमेंट (भुगतान) किए गए किसी भी अतिरिक्त प्रीमियम को छोड़कर, मॉडल प्रीमियम के लिए लोडिंग, राइडर प्रीमियम और लागू टैक्स (कर), सेस (उपकर), या लेवी, यदि कोई हो;

    4. लाइफ़ इंश्योरेंस कवरेज पीरियड क्या है?

    यह वह पीरियड (अवधि) है जिसके लिए इंश्योर्ड (बीमित व्यक्ति) को लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी के अंतर्गत कवर किया जाता है। यह उस प्रीमियम पेमेंट टर्म/पीरियड से अलग हो सकती है जिसके दौरान आपको लाइफ़ इंश्योरेंस प्रीमियम का पेमेंट (भुगतान) करना होता है।

    5. लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी में मैच्योरिटी डेट क्या है?

    मैच्योरिटी डेट (परिपक्वता तारीख) शेड्यूल (अनुसूची) में निर्दिष्ट होता है, जिस पर पॉलिसी टर्म समाप्त होती है। यह इंश्योर्ड (बीमित व्यक्ति) की उम्र को ध्यान में रखते हुए दिया जाता है और जिस तारीख को पॉलिसी जारी की गई थी, उसके आधार पर अलग होता है।

    6. इंश्योरेंस प्रीमियम क्या है?

    इसे पॉलिसी शेड्यूल में निर्दिष्ट अमाउंट (राशि) के रूप में दर्शाया गया है, जो आपके द्वारा देय है, पॉलिसी के तहत बेनिफ़िट्स को सुरक्षित करने के लिए, लागू टैक्स, सेस और लेवी, यदि कोई हो, को छोड़कर।

    7. प्रीमियम पेमेंट मोड या आवृत्ति क्या है?

    कोई भी व्यक्ति लाइफ़ इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान निम्न तरीके से कर सकता है:
  • रेग्युलर मोड, जो पॉलिसी अवधि के दौरान मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक या वार्षिक है
  • निर्दिष्ट प्रीमियम पेमेंट टेन्योर, जो वर्ष की कुछ पूर्व-निश्चित संख्या हो सकती है (पॉलिसी टर्म के अंत तक नहीं)
  • 8. लाइफ़ इंश्योरेंस राइडर्स क्या हैं?

    राइडर्स अनिवार्य रूप से सुविधाएं हैं, जो पॉलिसी के तहत बुनियादी लाभों के अतिरिक्त हैं। इनमें एक्सीडेंटल डेथ बेनिफ़िट राइडर, क्रिटिकल इलनेस राइडर और प्रीमियम राइडर की छूट शामिल है।

    लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान के प्रकार क्या हैं?

    5_types_life_insurance_policy_desktop_3dfd0dece9.jpg

    प्रत्येक पॉलिसी खरीदार कोइनमें से कोई भी खरीदने से पहले अलग-अलग प्रकार के लाइफ़ इंश्योरेंस[2]को समझना चाहिए।

    1. टर्म इंश्योरेंस

    यह एक किफ़ायती प्रकार का लाइफ़ इंश्योरेंस है जो किफ़ायती प्रीमियम पर हाई सम अश्योर्ड (उच्च बीमा राशि) प्रदान करता है। इंश्योरेंस कंपनी आपकी असामयिक मृत्यु के मामले में पॉलिसी नॉमिनी (नामित व्यक्ति) को इंश्योरेंस प्रीमिय का भुगतान करने की पेशकश करती है।

    2. यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान (ULIP)

    ULIP एक अद्वितीय प्रकार का लाइफ़ इंश्योरेंस है जो आपके इन्वेस्टमेंट पर लाइफ़ इंश्योरेंस और मार्केट से जुड़े रिटर्न के दोहरे लाभ प्रदान करता है। प्रीमियम के रूप में भुगतान की गई राशि का एक हिस्सा विभिन्न फ़ंड विकल्पों में इन्वेस्ट किया जाता है जबकि बाकी का इस्तेमाल लाइफ़ इंश्योरेंस प्रदान करने के लिए किया जाता है।

    3. चाइल्ड प्लान

    चाइल्ड प्लान ULIP का दूसरा रूप है जिसके साथ आप अपने बच्चे की उच्च शिक्षा योजनाओं का समर्थन करने के लिए धन सृजित कर सकते हैं। चाइल्ड प्लान के साथ, आपको अपनी वित्तीय स्थिति और दीर्घकालिक लक्ष्यों के आधार पर विभिन्न फ़ंडों में पैसा इन्वेस्ट करने की सुविधा भी मिलती है।

    4. एंडोमेंट प्लान

    इन प्लान को लाइफ़ इंश्योरेंस और सेविंग्स के संयोजन के रूप में जाना जाता है। एंडोमेंट प्लान (अक्षय निधि) में इन्वेस्ट करने से, आपको लाइफ़ इंश्योरेंस के साथ-साथ सेविग्स बेनिफ़िट भी प्राप्त होगा। आपको समय-समय पर बोनस (यदि कोई हो) के साथ, आपकी प्लान की अवधि समाप्त होने पर मैच्योरिटी बेनिफ़िट (परिपक्वता लाभ) मिलेगा।

    5. रिटायरमेंट प्लान

    आस्थगित पेंशन प्रॉडक्ट के रूप में भी जाना जाता है, इन प्लान का उद्देश्य आपको वित्तीय स्वतंत्रता का आनंद लेने के लिए अपने रिटायरमेंट (सेवानिवृत्त) जीवन के लिए धन सृजन में मदद करना है। पॉलिसी टर्म के दौरान आपकी मृत्यु के मामले में आपके नॉमिना (नामित व्यक्ति) को तत्काल भुगतान प्राप्त होगा। अन्यथा, आपको पॉलिसी टर्म तक जीवित रहने पर वेस्टिंग बेनिफ़िट (निहित लाभ) प्राप्त होगा।

    बेहतरीन इंश्योरेंस प्लान पॉलिसी का चयन कैसे करें?

    life_insurance_policy_desktop.jpg

    मार्केट में कई तरह की लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी उपलब्ध हैं, इसलिए सही इंश्योरेंस पॉलिसी का चुनाव करना महत्वपूर्ण है। लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान का चयन वित्तीय आवश्यकताओं के व्यापक स्पेक्ट्रम पर आधारित होना चाहिए।
    बेहतरी लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते समय विचार करने के लिए यहां कुछ स्टेप दिए गए हैं:

    1. उपलब्ध लाइफ़ इंश्योरेंस के प्रकारों के बारे में जानें

    लाइफ़ इंश्योरेंस कैसे काम करता है, इसकी उचित जानकारी के बिना, लोग सही पॉलिसी खरीदने के बारे में निर्णय लेने में असमर्थ महसूस करते हैं। इसलिए, इनमें से किसी एक को चुनने से पहले अलग-अलग प्रकार के लाइफ़ इंश्योरेंस प्रॉडक्ट की पूरी समझ हासिल करना महत्वपूर्ण है।

    2. अपनी वित्तीय ज़रूरतों का आकलन करें

    आपके साथियों के लिए जो लाइफ़ इंश्योरेंस सही है, ज़रूरी नहीं है कि वह आपके लिए भी सही हो। इसलिए, आपको अलग-अलग योजनाओं की तुलना शुरू करने से पहले अपनी विशिष्ट आवश्यकताओं पर विचार करना चाहिए, चाहे वह अफ़ोर्डबिलिटी (सामर्थ्य), सम अश्योर्ड (बीमित राशि) या राइडर्स का चुनाव करना हो।

    3. बेनिफ़िट्स के संदर्भ में प्लान की तुलना करें

    उपलब्ध लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान की विस्तृत विविधता के कारण, आपको यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि आप सही का चयन करें जो पर्याप्त लाभ प्रदान करता हो। इसके लिए, आपको प्रीमियम, सम अश्योर्ड (बीमा राशि) और इन्वेस्टमेंट घटक, यदि कोई हो, जैसे कई मापदंडों पर प्लान की तुलना करने का आवश्यक होमवर्क करना चाहिए।

    बेहतरीन लाइफ़ इंश्योरेंस कंपनी का चुनाव कैसे करें?

    सही लाइफ़ इंश्योरेंस कंपनी का चयन यह सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक है कि आपको या आपके प्रियजनों को वे लाभ मिले जो वे खरीद प्लान से चाहते हैं।

    बेहतरीन लाइफ़ इंश्योरेंस कंपनी चुनते समय निम्नलिखित पहलुओं पर विचार करें:

    1. क्लेम सेटमेंट रेशियो (CSR)

    यह रेशियो (अनुपात) एक वित्तीय वर्ष में प्राप्त क्लेम की तुलना में इंश्योरेंस कंपनी द्वारा तय किए गए क्लेम को परिभाषित करता है। CSR जितना अधिक होगा, आपके लाइफ़ इंश्योरेंस क्लेम के भुगतान की संभावना उतनी ही अधिक होगी।

    2. सॉल्वेंसी रेशियो

    यह संदर्भित करता है कि इंश्योरेंस कंपनी क़र्ज़ों से निपटने के लिए पर्याप्त नकदी प्रवाह का प्रबंधन कितनी अच्छी तरह कर सकती है। कोई भी इंश्योरेंस कंपनी परेशानी मुक्त दावा निपटान प्रदान कर सकता है यदि यह रेशियो (अनुपात) संबंधित देनदारियों को पूरा करने के लिए अपनी मज़बूती दर्शाता है।

    3. प्रीमियम

    सभी लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान की कीमत अलग-अलग होती है। इसलिए, आपको ऐसा प्लान चुनना होगा जो आपकी लागत में आ जाए। लाइफ़ कवर खोने के जोखिम से बचने के लिए, यह सुनिश्चित करें कि आप कोई ऐसे प्लान का चयन नहीं करें जिसका प्रीमियम (बीमा किस्त) बहुत अधिक हो और वहन करने योग्य न हो।

    4. पर्सिस्टेंसी रेशिया

    यह उन पॉलिसीधारकों के अनुपात को परिभाषित करता है जो कुल सक्रिय पॉलिसीधारकों पर प्रीमियम का भुगतान करते हैं। यह इंश्योरेंस कंपनी द्वारा प्रदत्त ग्राहक संतुष्टि का एक अच्छा संकेतक है।

    5. क्लेम सेटलमेंट प्रोसेस

    आसान क्लेम सेटलमेंट प्रोसेस (दावा निपटान प्रक्रिया) का तात्पर्य है, आपके परिवार को लाइफ़ इंश्योरेंस बेनिफ़िट प्राप्त करने के लिए किसी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। ऐसी इंश्योरेंस कंपनी चुनने की सलाह दी जाती है जो क्लेम के निपटान के लिए एक सुव्यवस्थित प्रक्रिया का पालन करती हो।

    लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी ऑनलाइन क्यों खरीदें?

    online_life_insurance_policy_desktop.jpg

    प्रत्येक पॉलिसी खरीदार को इनमें से कोई भी पॉलिसी खरीदने से पहले अलग-अलग प्रकार के लाइफ़ इंश्योरेंस[2] को समझना चाहिए।
    लाइफ़ इंश्योरेंस ऑनलाइन खरीदने के निर्णय को सपोर्ट करने के कई कारण हैं, जिनमें शामिल हैं

    1. ट्रांसपेरेंसी

    लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान की विशेषताओं से लेकर उसके प्रीमियम और अन्य जानकारी तक, ऑनलाइन पॉलिसी खरीदते समय आपके सामने सब कुछ ट्रांसपेरेंट (पारदर्शी) है। जानकारी पूर्ण निर्णय लेने के लिए आप इस ट्रांसपेरेंसी (पारदर्शिता) पर भरोसा कर सकते हैं।

    2. तुलना करने का बेनिफ़िट

    टर्म इंश्योरेंस ऑनलाइन खरीदने से आपको जानकारी पूर्ण निर्णय लेने में मदद मिलेगी, क्योंकि आपके पास विभिन्न सूचनात्मक लेख, केस स्टडी और कैलकुलेटर तक पहुंच होगी।

    3. सेक्योर पेमेंट मोड

    लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी ऑनलाइन खरीदते समय, आप सेक्योर ऑनलाइन पेमेंट विकल्पों का इस्तेमाल करते हैं। फटाफट और परेशानी मुक्त पेमेंट प्रोसेसिंग आज समय के लिए सही है जब आपको टैक्स डिडक्शन (कर कटौती) का क्लेम करने के लिए पॉलिसी डॉक्यूमेंट पेश करने की आवश्यकता होती है।

    4. लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी का आसान रिन्यूअल

    लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी के रिन्यूअल (नवीनीकरण) की प्रक्रिया काफी आसान और परेशानी मुक्त है। आप ऑनलाइन किए गए कुछ ही क्लिक में पॉलिसी रिन्यूअल करवा सकते हैं।

    लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान प्राप्त लेने के लिए ज़रूरी डॉक्यूमेंट

    आपको किसी मशहूर इंश्योरेंस कंपनी से लाइफ़ इंश्योरेंस खरीदते समय आपको निम्नलिखित आधिकारिक रूप से मान्य डॉक्यूमेंट्स (दस्तावेजों) उपलब्ध कराने की आवश्यकता होती है[3][5][6] :

    • पासपोर्ट
    • वोटर आईडी
    • नरेगा जॉब कार्ड
    • आधार कार्ड
    • पैन कार्ड/फ़ॉर्म 60

    यदि इन डॉक्यूमेंट्स (दस्तावेज़ों) में अद्यतित पता नहीं है, तो आपको निम्नलिखित डॉक्यूमेंट की आवश्यकता होगी:

    • किसी भी सर्विस प्रोवाइडर का यूटिलिटी (उपयोगिता) बिल
    • प्रॉपर्टी टैक्स की रसीद
    • रिटायर व्यक्तियों को जारी किए गए फ़ैमिली पेंशन पेमेंट ऑडर्स
    • सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और अन्य सांविधिक निकायों जैसे नियोक्ताओं से आवास के आवंटन का पत्

    आप लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान के साथ टैक्स कैसे बचाते हैं?

    लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसियों को टैक्स प्लानिंग (कर-नियोजन) के लिए कुशल टूल माना जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि पॉलिसीधारक आयकर अधिनियम, 1961 के तहत टैक्स बेनिफ़िट4 पाने के योग्य हैं। अलग-अलग लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान के लिए पेमेंट (भुगतान) किए गए प्रीमियम टैक्स-कटौती योग्य धारा 80C है, जबकि पेमेंट (भुगतान) या मैच्योरिटी बेनिफ़िट (परिपक्वता लाभ) आयकर अधिनियम की धारा 10(10D) के तहत टैक्स-मुक्त है।

    आप लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए पेमेंट (भुगतान) किस तरीके से कर सकते हैं?

    आप एक बार में या समय के साथ रेग्युलर पेमेंट (नियमित भुगतान) के साथ लाइफ़ इंश्योरेंस के प्रीमियम का पेमेंट करना चुन सकते हैं। लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसियां आमतौर पर सिंगल (एकमुश्त) पेमेंट, रेग्युलर (पॉलिसी अवधि के दौरान) पेमेंट और सीमित प्रीमियम पेमेंट अवधि (पॉलिसी कवरेज अवधि से कम पेमेंट अवधि के लिए) के बीच चयन करने का विकल्प प्रदान करती हैं।

    रेग्युलर प्रीमियम पेमेंट मोड के साथ, आप निम्न पेमेंट विकल्पों में से किसी एक का चयन कर सकते हैं:

    • सालाना
    • अर्ध-वार्षिक
    • तिमाही
    • मासिक
    • आपको यह भी पता होना चाहिए कि ऑनलाइन पेमेंट किए गए लाइफ़ इंश्योरेंस प्रीमियम को सेक्योर पेमेंट गेटवे के ज़रिए प्रोसेस किया जाता है, इस तरह से ट्रांज़ैक्शन (लेन-देन) की सुरक्षा सुनिश्चित होती है।

      आपका परिवार लाइफ़ इंश्योरेंस क्लेम के पैसे कैसे प्राप्त करेगा?

      आपके (लाइफ़ इंश्योर्ड) असामयिक मृत्यु के बाद, आपके प्रियजनों को आपके इंश्योरेंस कंपनी से उसी का क्लेम करके पॉलिसी बेनिफ़िट मिलेगा।

      लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी के बेनिफ़िट का क्लेम करने के लिए इन स्टेप्स का पालन करें:

      • इंश्योरेंस कंपनी को जल्द से जल्द सूचित करें
      • क्लेम इंटिमेशन फ़ॉर्म (दावा सूचना प्रपत्र) के लिए पूछें
      • क्लेम फ़ॉर्म के साथ जमा किए जाने वाले डॉक्यूमेंट के बारे में पूछें
      • यदि पॉलिसी ऑनलाइन खरीदी गई थी, तो क्लेम के लिए ऑनलाइन भी अप्लाई करें
      • फटाफट और आसान क्लेम सेटलमेंट (दावा निपटान) सुनिश्चित करने के लिए पॉलिसी के नॉमिनी (नामित व्यक्ति) को बीमित व्यक्ति की मृत्यु के बाद क्लेम के लिए बहुत लंबा इंतजार नहीं करना चाहिए।

        कौन-सा लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान आपकी आवश्यकता के अनुरूप है?

        which-life-insurance-plan-suits-your-need.png

        हर किसी की अलग-अलग वित्तीय ज़रूरतें और जीवन लक्ष्य होते हैं, जिसके आधार पर उसे लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी चुननी चाहिए।

        Max Life Insurance इंश्योरेंस के साथ, आपको लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान खरीदने की सुविधा मिलती है जिसे आप अपनी खास जरूरतों को पूरा करने के लिए अपने मनमुताबिक बना सकते हैं। सही प्लान चुनने में आपकी सहायता के लिए यहां एक छोटी-सी गाइड (मार्गदर्शिका) दी गई है:

        1.लाइफ़ स्टेज/आवश्यकता: 20 - 25 वर्ष (युवा और अविवाहित)

        विचार करने योग्य प्लान

        बेनिफ़िट (लाभ)

        • कम प्रीमियम पर पर्याप्त कवरेज
        • लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान कभी भी और कहीं से भी खरीदने की सुविधा
        • पॉलिसी अवधि और बीमित राशि चुनने की सुविधा

        2.लाइफ़ स्टेज/आवश्यकता: 25 - 30 वर्ष (शादी-शुदा लेकिन बच्चे नहीं हैं)

        विचार करने योग्य प्लान

        बेनिफ़िट (लाभ)

        • इंश्योरेंस और इन्वेस्टमेंट का दोहरा लाभ
        • अलग-अलग गंभीर बीमारियों से सुरक्षा
        • मैच्योरिटी पर कुल प्रीमियम की वापसी (स्मार्ट टर्म प्लान प्रीमियम बैक वैरिएंट के साथ)
        • सुविधाजनक इन्वेस्टमेंट विकल्प

        3.लाइफ़ स्टेज/आवश्यकता: 30 - 35 वर्ष (विवाहित और छोटे बच्चों भी हैं)

        विचार करने योग्य प्लान

        बेनिफ़िट

        • मुद्रास्फ़ीति को मात देने के लिए पॉलिसी टर्म में निर्धारित लाइफ़ इंश्योरेंस कवर को बढ़ाना
        • आयकर अधिनियम की अलग-अलग धाराओं के तहत टैक्स बेनिफ़िट (कर लाभ)
        • बेहतर सुरक्षा के लिए अतिरिक्त राइडर्स

        4.लाइफ़ स्टेज/आवश्यकता: 35 - 45 वर्ष (किशोर बच्चों के माता-पिता)

        विचार करने योग्य प्लान

        बेनिफ़िट्स

        • सुविधाजनक पेमेंट विकल्प
        • किफ़ायती कीमतों पर व्यापक कवर
        • चुने गए प्लान के अनुसार सर्ववाइल बेनिफ़िट (उत्तरजीविता लाभ)

        5.लाइफ़ स्टेज /आवश्यकता: रिटायरमेंट के करीब विचार करने योग्य प्लान

        बीमा योजना विकल्प

        बेनिफ़िट्स

        • रिटायरमेंट के लक्ष्यों के लिए वित्तीय सुरक्षा
        • आपके बच्चों के भविष्य के लक्ष्यों के लिए धन सृजन के अवसर

        आपके लिए सही जीवन बीमा कवर क्या है?

        एक बार जब आप लाइफ़ इंश्योरेंस खरीदने का निर्णय कर लेते हैं, तो अगला बड़ा कदम एक खास लाइफ़ इंश्योरेंस या सम अश्योर्ड चुनना होता है। लाइफ़ कवर के लिए बॉलपार्क फ़िगर का निर्धारण करते समय ध्यान रखने योग्य कुछ पहलू यहां दिए गए हैं:

        1. अपने वर्किंग ईयर (कार्य वर्षों) पर विचार करें

        लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान एक इनकम रिप्लेसमेंट टूल (आय प्रतिस्थापन) टूल के रूप में कार्य करती है। इसलिए, आपको सम अश्योर्ड का चयन करते समय सक्रिय कार्य वर्षों की संख्या पर विचार करने की आवश्यकता है। उदाहरण के लिए, यदि आप अभी 25 वर्ष के हैं और आपने 50 वर्ष की उम्र में अपने रिटायरमेंट का प्लान बनाया है, तो आपके पास विचार करने योग्य कमाई करने के 25 वर्ष हैं।

        2. अपने नियमित खर्चों का चार्ट बनाएं

        सम अश्योर्ड में साल-दर-साल आधार पर घरेलू खर्च, बिल और मौजूदा लोन ईएमआई सहित आवर्ती वित्तीय खर्च शामिल होना चाहिए। किसी खास अवधि के लिए इन खर्चों को चार्ट करके, आपको चुनी जाने वाली बीमित राशि पर विचार करने पर एक बेहतर आइडिया मिलेगा।

        3. अपने परिवार के जीवन में लैंडमार्क स्टेज (ऐतिहासिक चरणों) पर विचार करें

        जीवन में कुछ स्टेज या घटनाओं के लिए बड़ी एकमुश्त राशि की आवश्यकता होती है। इनमें शादी, रिटायरमेंट (सेवानिवृत्ति) या बच्चे की उच्च शिक्षा शामिल है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपके परिवार को आपके बाद वित्तीय बोझ का सामना नहीं करना पड़ेगा, बीमित राशि में उन सभी को प्रमुख रूप से शामिल किया जाना चाहिए।

        लाइफ़ इंश्योरेंस, जनरल इंश्योरेंस और हेल्थ इंश्योरेंस के बीच अंतर

        निम्न तालिका अलग-अलग प्रकार की इंश्योरेंस पॉलिसी के बीच अंतर को सारांशित करती है:

        मापदंड (पैरामीटर)जनरल इंश्योरेंसलाइफ़ इंश्योरेंसहेल्थ इंश्योरेंस
        बेसिक बेनिफ़िटहोम, हेल्थ और ट्रैवल जैसी नन-लाइफ़ एसेट (संपत्तियों) के लिए इंश्योरेंस कवरेजपरिवार को दिया जाने वाला लाइफ़ इंश्योरेंस बेनिफ़िटलाइफ़ में मेडिकल इमर्जेंसी (चिकित्सा आपात स्थितियों) से निपटने के लिए हेल्थ कवर
        प्रीमियम पेमेंटपूरे प्रीमियम का पेमेंट आमतौर पर पॉलिसी खरीदने/रिन्यू के समय किया जाता हैएक निश्चित ���वधि के लिए पेमेंट की जाने वाली एक निश्चित राशि (वर्षों में)पॉलिसी रिन्यूअल के लिए पहले और फिर प्रत्येक वर्ष के बाद पेमेंट की जाने वाली एक खास राशि
        पॉलिसी अवधिशॉर्ट टर्मलॉन्ग टर्मशॉर्ट टर्म
        इंश्योरेंस का क्लेमपॉलिसी टर्म में परिभाषित दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं के मामले मेंया तो बीमित व्यक्ति की मृत्यु या परिपक्वता परहेल्थ इमर्जेंसी (स्वास्थ्य संबंधी आपात स्थिति) के दौरान
        आयकर अधिनियम 1961 के तहत टैक्स बेनिफ़िटधारा 80D के तहत (हेल्थ इंश्योरेंस के लिए)धारा 80C के तहतधारा 80D के तहत

        लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी से जुड़े अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

        search

        लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी, लाइफ़ इंश्योर्ड (जीवन बीमाकृत) व्यक्ति की असामयिक मृत्यु के मामले में नॉमिनी (नामित व्यक्ति) को सम अश्योर्ड (बीमा राशि) प्रदान करती है। अलग-अलग प्रकार की लाइफ़ इंश्योरेंस प्लान हैं जिन्हें आप अपने लक्ष्यों और सुरक्षा आवश्यकताओं के आधार पर चुन सकते हैं।

        टर्म प्लान, लाइफ़ इंश्योरंस का सबसे सस्ती पॉलिसी है, जो किसी भी सर्ववाइल बेनिफ़िट (उत्तरजीविता लाभ) की पेशकश नहीं करता है। पॉलिसी अवधि समाप्त होने पर पॉलिसी समाप्त हो जाती है। हालांकि, प्रीमियम की वापसी के साथ टर्म प्लान टर्म इंश्योरेंस का एक अन्य वैरियंट है जो सर्ववाइल बेनिफ़िट (उत्तरजीविता लाभ) प्रदान करता है।

        आप जीवन बीमा के लिए भुगतान किए गए प्रीमियम पर सालाना 1.5 लाख रुपये तक की आयकर अधिनियम, 1961 की धारा के तहत टैक्स कटौती का लाभ उठा सकते हैं। साथ ही, नॉमिनी (नामित व्यक्ति) द्वारा प्राप्त लाइफ़ इंश्योरेंस पेमेंट धारा 10(10D) के तहत टैक्स से मुक्त है।

        लाइफ़ इंश्योरेंस के साथ, आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपकी अनुपस्थिति में आपके प्रियजनों की वित्तीय सुरक्षा से कभी समझौता न किया जाए। उन्हें मिलने वाले इंश्योरेंस बेनिफ़िट (बीमा लाभ) से उन्हें अपने नियमित खर्चों और जीवन के लक्ष्यों को पूरा करने में मदद मिलेगी।

        बेहतरीन लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने की सही उम्र तब होती है जब आप युवा होते हैं और कम से कम वित्तीय देनदारियों को वहन करते हैं। जितनी जल्दी आप कोई प्लान खरीदते हैं; उसका प्रीमियम उतना ही कम होगा।

        ARN NO: PCP/LIH/030123

        Sources:

        www.policyholder.gov.in/YouandYourLifeInsurancePolicyFAQs.aspx

        www.policyholder.gov.in/WhatLifeInsurancetoBuy.aspx

        www.irdai.gov.in/ADMINCMS/cms/NormalData_Layout.aspx?page=PageNo2061

        www.maxlifeinsurance.com/content/dam/corporate/Brochures/Term-plans/English/smart-term-plan/smart-term-plan-policy-contract.pdf

        www.maxlifeinsurance.com/blog/term-insurance/what-are-the-documents-required-for-term-plan

        www.rbi.org.in/Scripts/NotificationUser.aspx?Id=11865&Mode=0

        www.maxlifeinsurance.com/claims-centre/documents-required

        मैक्स लाइफ इंश्योरेंस की ऑनलाइन बीमा योजना

        • Max Life स्मार्ट सिक्योर प्लस प्लान

          पॉलिसी अवधि के दौरान आपके दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु के मामले में आपके परिवार के सदस्यों के लिए कंप्रेहेंसिव डेथ बेनिफ़िट (व्यापक मृत्यु लाभ)

          आपके जीवन के लक्ष्यों को पूरा ���रने में मदद करने के लिए गारंटीड मैच्योरिटी बेनिफ़िट/इनकम बेनिफ़िट और अक्योर्ड गारंटीड एडिशन बेनिफ़िट

          मल्टीपल वैरिएंट - एकमुश्त; अल्पकालिक आय, दीर्घकालिक आय, और अलग-अलग लाभों के साथ ताउम्र आय

          और जानें
        • MAX LIFE स्मार्ट टर्म प्लान

          हार्ट अटैक, कैंसर, और किडनी की खराबी सहित गंभीर बीमारियों के विरूद्ध फ़ाइनेंशियल (वित्तीय) सुरक्षा

          आपके बजट और इनकम के अनुकूल सबसे उचित प्रीमियम भुगतान विकल्प चुनने की सुविधा

          सर्वाइवल बेनिफ़िट (उत्तरजीविता लाभ) के रूप में प्रीमियम का किया गया भुगतान वापस पाने के लिए प्रीमियम रिटर्न विकल्प के साथ लाइफ़ कवरेज

          और जानें
        • मैक्स लाइफ़ ऑनलाइन सेविंग्स प्लान

          विभिन्न जीवन उद्देश्यों के लिए पैसे बचाने के साथ-साथ पॉलिसी अवधि को कवर करने वाले व्यापक मृत्यु लाभ

          बिना किसी पॉलिसी शुल्क के पॉलिसीहोल्डर्स के लिए मासिक आय, संचित बोनस और फ्लेक्झीबल फंडिंग के विकल्प

          85 वर्ष तक की पॉलिसी अवधि और जरूरत के अनुसार प्रीमियम भुगतान अवधि चुनने की फ्लेक्झिबिलीटी

          और जानें
        • MAX LIFE कैंसर इंश्योरेंस प्लान

          एक कंप्रेहेंसिव कैंसर इंश्योरेंस प्लान (व्यापक कैंसर बीमा योजना) जो कैंसर के सभी स्टेज में भुगतान प्रदान करती है

          पहले 5 साल के लिए कोई क्लेम न करने की स्थिति में मूल बीमा राशि में 10% की वृद्धि पाएं

          बीमित राशि का 20% + प्रीमियम की छूट, कैंसर के प्रारंभिक स्टेज के निदान में

          एकमुश्त राशि का भुगतान + 5 साल तक सालाना आय, प्रमुख स्टेज के निदान में

          वर्तमान टैक्स नियमों के अनुसार धारा 80D के तहत टैक्स बेनिफ़िट

          और जानें
        • Max Life स्मार्ट वेल्थ प्लान

          पॉलिसी अवधि के दौरान आपके दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु के मामले में आपके परिवार के सदस्यों के लिए कंप्रेहेंसिव डेथ बेनिफ़िट (व्यापक मृत्यु लाभ)

          आपके जीवन के लक्ष्यों को पूरा करने में मदद करने के लिए गारंटीड मैच्योरिटी/इनकम बेनिफ़िट और अर्जित गारंटीड अतिरिक्त लाभ

          मल्टीपल वैरियंट – एकमुश्त राशि, शॉर्ट टर्म इनकम (अल्पकालिक आय), लॉन्ग टर्म इनकम (दीर्घकालिक आय), और यूनीक बेनिफ़िट के साथ ताउम्र आय

          और जानें
        • लॉन्ग टर्म इनकम

          चुने गए सब-वैरिएंट के अनुसार, पॉलिसी अवधि समाप्त होने के बाद 25 या 30 साल के लिए गारंटीड इनकम बेनिफ़िट (आय लाभ)

          नॉमिनी (नामांकित) व्यक्ति को देय भुगतान अवधि के पूरा होने के बाद, भुगतान किए गए कुल प्रीमियम के बराबर टर्मिनल बेनिफ़िट

          आपकी आवश्यकताओं के लिए प्लान की उपयुक्तता के अनुसार दो प्रीमियम भुगतान विकल्प - 6 और 10 वर्ष चुनने की सुविधा

          और जानें
        • टर्म प्लान विद रिटर्न ऑफ़ इनकम (प्रीमियम की वापसी के साथ टर्म प्लान)

          पॉलिसी अवधि के अंत तक बीमित व्यक्ति के जीवित रहने पर भुगतान किए गए प्रीमियम को वापस पाने का विकल्प

          किसी भी घटना में आपकी मृत्यु हो जाने पर आपके परिवार के सदस्यों के लिए डेथ बेनिफ़िट (मृत्यु लाभ)

          प्रीमियम की वापसी के साथ टर्म प्लान के भुगतान के लिए सीमित भुगतान का विकल्प - 5 भुगत��न, 10 भुगतान, 12 भुगतान, 15 भुगतान, या 60 भुगतान

          और जानें
        • Max Life क्रिटिकल इलनेस एंड डिसेबिलिटी राइडर

          आपके द्वारा चुने गए राइडर वेरिएंट के आधार पर 64 गंभीर बीमारियों के विरुद्ध अतिरिक्त सुरक्��ा

          बीमारी या चोट लगने की वजह से होने वाली विकलांगता पर कुल और स्थायी डिसेबिलिटी कवर

          आपके द्वारा संचित किए गए हेल्दी वीक के अनुसार सालाना रीन्यूअल प्रीमियम पर छूट पाने के लिए वेलनेस बेनिफ़िट (स्वास्थ्य लाभ)

          और जानें
        • Max Life लाइफ़ वेवर ऑफ़ प्रीमियम प्लस राइडर

          कवर किए गए डिस्मेम्बर्मन्ट (अंग-विच्छेदन ) के मामले में भविष्य के सभी प्रीमियमों की छूट ताकि आप चिंता मुक्त रह सकें

          यदि आप राइडर शर्तों में निर्दिष्ट गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं तो भविष्य के प्रीमियम में छूट

          जीवन के अलग-अलग खर्चों को बनाए रखने के बारे में आपको मन की शांति देने के लिए बेस पॉलिसी के बेनिफ़िट को जारी रखना

          और जानें
        • Max Life स्मार्ट फिक्स्ड- रिटर्न डिजिटल प्लान

          सिर्फ 5 साल में रिटर्न

          टैक्स-फ्री## फिक्स्ड रिटर्न 6.27%^*

          ₹46,800## तक टैक्स की बचत 80C धारा के तहत

          और जानें

        Media Center

        search

        With Covid fears down, people focus on kids’ goals, buying term plans, as per the latest Max Life IPQ 4.0 survey.

        Read More

        Max Life Insurance Company Ltd. in partnership with Kantar, on Thursday, launched the fourth edition of the India Protection Quotient survey (IPQ). Conducted entirely online, the India Protection Quotient 4.0 surveyed 5,729 respondents across 25 Indian cities, between 10 December 2021 to 14 January 2022.

        Read More

        India's awareness towards life insurance grew significantly over the last two years due to COVID-19, and the need for financial security has gained priority among people, according to Max Life's annual flagship survey.

        Read More

        Indians are buying more term plans now as term insurance ownership has gone up to 43 per cent from 39 per cent last year, revealed the India Protection Quotient (IPQ) survey 4. This is despite life insurance ownership remaining unchanged at 78, signifying the fact that consumers are now diversifying their insurance holdings and building a holistic portfolio.

        Read More

        Share your Valuable Feedback
        Rating Icon

        4.4

        Rated by 11293 customers

        Was the Information Helpful?

        Very Good

        Online Sales Helpline
        • 0124 648 8900(09:00 AM to 09:00 PM Monday to Saturday)
        • service.helpdesk@maxlifeinsurance.comEmail
        • SMS ‘LIFE’ to 5616188Message
        • Let us call you back
        Customer Service
        • 1860 120 5577(9:00 AM to 6:00 PM Monday to Saturday)
        • Chat with us
        • Write to usPlease write to us incase of any escalation/feedback/queries.
        NRI Helpdesk
        • 011-71025900, 011-61329950(9:00 AM to 6:00 PM Monday to Saturday)
        • nri.helpdesk@maxlifeinsurance.comPlease write to us incase of any escalation/feedback/queries.